हिंद महासागर में ताकत दिखाने के लिए इस्तेमाल नहीं होगा मालदीव: इब्राहिम मोहम्मद सोलीह

दीपरंजनरॉयचौधरी,नईदिल्लीचीनकेसमर्थकअब्दुल्लायामीनकोहरानेकेबादइब्राहिममोहम्मदसोलीहनेकहाकिमालदीवकीजमीनकाइस्तेमालकिसीभीभारतविरोधीगतिविधिकेलिएनहींहोनेदेंगे।हमारेसहयोगीइकनॉमिकटाइम्सकोदिएएकइंटरव्यूमेंउन्होंनेयहबातकही।उन्होंनेकहाकिमालेहिंदमहासागरमेंएकस्थायीकारककीभूमिकानिभाएगा।सोलीहनेकहाकिहमदोनोंदेशशताब्दियोंसेऐतिहासिकऔरसांस्कृतिसंबंधोंकोसाझाकररहेहैं।यहकाफीदुखकीबातहैकिपिछलेकुछसालोंमेंदोनोंदेशोंकेसंबंधगैरजरूरीचीजोंकेलिएदांवपरलगादिएगएथे।मैंकाफीखुशहूंकिअपनीपहलीविदेशयात्राकेलिएभारतकोचुनाऔरपीएममोदीनेशपथग्रहणसमारोहमेंशिरकतकी।यहदोनोंदेशोंकीमजबूतसंबंधोंकाप्रतीकहै।हमअपनेसंबंधोंकोऔरमजबूतकरनेकेप्रयासकरतेरहेंगे।स्वास्थ्य,टूरिजमऔरहिंदमहासागरकीसुरक्षाऔरस्थायित्वकेमुद्देपरहमएकसाथहैं।जबसोलीहसेमालदीवमेंचीनकीमौजूदगीऔरसैन्यइस्तेमालकेबारेमेंसवालकियातोउन्होंनेकहाकिमालदीवकेसंप्रभुराज्यहै।हमहिंदमहासागरमेंअपनीभूस्थिरस्थितिकेबारेमेंबहुतध्यानरखतेहैं।हमइसबातकापूराध्यानरखतेहैंकिशांतिऐसेमौकेपरबेहदजरूरीहै,जबटेंशनबढ़रहीहो।जबउनसेपूछागयाकिभारतसरकारसेउनकीक्याअपेक्षाएंहैंतोसोलीहनेकहा,'हमशुक्रगुजारहैंकिभारतनेमालदीवकीवर्तमानवित्तीयस्थितिकोसमझाऔरबजटरीसपोर्टकेलिएतुरंतपैकेजकाऐलानकिया।हमारीभारतसेअपेक्षाहैकिहमलोगइसीतरहएक-दूसरेकेसाथसंबंधोंकोसाझाकरेंऔरहिंदमहासागरकोसुरक्षितबनातेहुएएक-दूसरेकीसंप्रभुताकापूराध्यानरखें।'चीनकीबीआरआईपरसोलीहनेकहा,'हमारीसरकारपिछलीसरकारकेदौरानलिएगएकर्जकीसमीक्षाकररहीहै।इसमेंकोईदोरायनहींहैंकिस्थितिकाफीचुनौतीपूर्णहै।बड़ीसंख्यामेंइन्फ्रास्ट्रक्चरप्रोग्रामशुरूकिएगएहैं।हमलोगउनअग्रीमेंटकीसमीक्षाकरनेकीप्रक्रियामेंहैं।'सोलीहनेअपनीसरकारबननेपरकहाकिमैंकाफीसम्मानितमहसूसकररहाहूंकिमालदीवकीजनतानेमुझमेंभरोसादिखाया।उन्होंनेकहा,'हमकाफीसौभाग्यशालीहैंकिजनतानेहमें58प्रतिशतवोटदिए।मालदीवकीलोकतांत्रिकयात्रामेंकुछउतार-चढ़ावरहेहैं।हमलोगकरप्शनकेखिलाफजीरोटोलरेंस,न्यायिकसुधारऔरसत्ताकागलतइस्तेमालकरनेकीजांचकरेंगे।'