हिमाचल पर है ऑनलाइन ठगों की नजर

रमेशसिगटा,शिमला

हिमाचलप्रदेशमेंसाइबरठगोंनेपूरीतरहसेजालफैलारखाहै।यहशातिरआमआदमीकोबातोंमेंऐसाउलझादेतेहैंकिकोईभीइनकाभरोसाकरले।इसकापताइसीसेचलताहैकिइनकेपासकईजालीमोबाइलसिमऔरलाखोंकीसंख्यामेंबैंकअकाउंटनंबरमिलेहैं।

बिहारकेबेगुसरायकेरहनेवालेआरोपितप्रदुमनपंडितउर्फकर्णपंडितऔरपश्चिमबंगालकेविशालकुमारपॉलकेकब्जेसे34जालीमोबाइलसिमबरामदहुईहैं।उनकेकेलैपटॉपसेएकलाखबैंकखाताधारकऔरएकलाखसेअधिककेलिकनंबरोंकापताचलाहै।सूत्रोंकेअनुसारइसकेआधारपरप्रदेशकीसीआइडीकेएडीजीपीनेसभीराज्योंकेडीजीपीकोपत्रलिखाहै।वहींराज्यकेसभीपुलिसअधीक्षकोंकोभीसचेतकियागयाहै।साइबरठगतीनराज्योंमेंज्यादासक्रियरहेहैं,जिसकीजांचचलरहीहै।

जाली34सिममेंसेआठमंडीके24लाखरुपयेकीधोखाधड़ीमामलेमेंप्रयुक्तहुईहैं।अबतकउनकेकब्जेसेतीनलाखछहहजाररुपयेबरामदहोचुकेहैं।यहठगऑनलाइनहीजालसाजीकेआधारपरबैंकोंमेंखातेखोलतेथे।इनकेएटीएममुख्यआरोपितकर्णऑपरेटकरताथा।

दोमाहमें250सौशिकायतें

सीआइडीकेपासदोमाहमेंढाईसौशिकायतेंआईहैं।इनमेंसेज्यादातरवित्तीयफर्जीवाड़ेसेसंबंधितहैं।शेषसोशलमीडियाकेजरियेधोखाधड़ीसेजुड़ीहैं।2019मेंसीआइडीकेसाइबरसेलने10एफआइआरदर्जकीथीं।वित्तीयधोखाधड़ीकेमामलोंमेंसेएकसालकेअंदरसाइबरसेलनेबीसलाखरुपयेशिकायतकर्ताओंकोलौटाएहैं।सीआइडीकामाननाहकिऑनलाइनबैंकिंगजैसेई-वॉलेटपरबिनानोयूअरकस्टमर(केवाइसी)केचलरहेखातेठगीकेलिएइस्तेमालकिएजारहेहैं।दूसरेराज्योंमेंबैठकरचलारहेनेटवर्क

प्रदेशमेंसक्रियठगदूसरेराज्योंसेकेमहानगरोंमेंबैठकरनेटवर्कचलारहेहैं।इसबारेमेंसीआइडीकईराज्योंकेपुलिसप्रमुखोंकोपत्रलिखचुकीहै।इसकेअलावाबैंकोंकोएडवायजरीजारीकीगईहै।बैंकअधिकारीकेनामसेउनकेहेल्पलाइननंबरफर्जीतैयारकरग्राहकोंकोचूनालगायाजारहाहै।