हैलो-स्माइल और सॉरी का कमाल, ऑफिस में तनाव को करेगा कम

नईदिल्ली[मिलनसिन्हा]।देश-विदेशहर जगहकॉरपोरेट वर्ल्डमेंह्यूमन मैनेजमेंटयानी मानवप्रबंधन कीचर्चाखूब होतीहै।होनीभी चाहिए।किसी भीसंस्थानके लिएउससेजुड़े लोगोंसेज्यादा महत्वपूर्णकोईनहींहोता।वहउनके कर्मीहों,उनकेग्राहक,उनकेसर्विस प्रोवाइडरयाकोईऔर,उनसेअगर रिश्तेअच्छेहैंऔरआगेउसेबेहतर करनेकाइरादाहैतोसंस्थानके विकासमेंदिक्कतनहींहोती।ऐसेतो आपसीरिश्तोंकोकामकाजी,अच्छा याप्रगाढ़बनानेकेजाने-पहचाने तरीकेहैं,लेकिनअगरकोईसंस्थान अपनेलोगोंकोहैलो,स्माइलऔर सॉरीकाबेहतरप्रयोगकरनाभीसिखा देयाहमसभीअपनेस्तरपरइनका सदुपयोगकरनासीखलें,तोतनावको सरलतासेमैनेजकरनेकेसाथ-साथ जिंदगीजीनाकाफीसुखदहोजाएगा। कैसे?आइएजानतेहैं...

यहभलेहीदेखनेमेंएकछोटा शब्दहै,लेकिनइसकाउपयोगबहुत होताहैऔरइसकाअसरभीकमबड़ा नहींहोताहै।फोनउठातेहीहमपहला शब्दयहीइस्तेमालकरतेहैं।वैसेकुछ लोगइसकेबदलेनमस्तेयानमस्कार जैसेशब्दोंकाभीउपयोगकरतेहैं। बातमोटेतौरपरएकहीहै।घरसे ऑफिसकेलिएनिकलतेहीहमको रास्तेमेंआते-जातेकईलोगमिलते हैंजोहमारेपरिचितहोतेहैं,तोक्या हैलोकरतेहैंयानीनमस्तेयाहाथ हिलाकरअभिवादनकरतेहैं?अगर करतेहैंतोजानतेहैंकिइसकाकितना सकारात्मकअसरहमारेव्यक्तित्व विकासपरपड़ताहै,हमारेमूडको बेहतरबनानेमेंहोताहैऔरहमारे आपसीरिश्तेकीगर्माहटकोबनाए रखनेमेंहोताहै।

यहसचहैकिमुस्कुराहट हमारीखूबसूरतीमेंसुधारलानेका एकसबसेसस्ताऔरहेल्दीतरीका है।ऐसेभीहमेंमुरझायेहुएचेहरे अच्छेनहींलगते।तभीतोफोटो खींचतेवक्तफोटोग्राफरस्माइल प्लीजकहतेहैं।जबहमएक-दूसरे सेमुस्कुराकरमिलतेहैंतोबड़ाअच्छा फीलहोताहै।किसीभीवार्तालापकी सफलतामेंइसकीअहमभूमिकाको सभीस्वीकारकरतेहैं।यहभीसही हैकिस्माइलकरनेवालेलोगतनाव प्रबंधनमेंकहींअधिकमाहिरहोतेहैं। तोहमस्माइलकरनेमेंपीछेक्योंरहें?

हमसबअपनेजीवनमेंछोटी-बड़ीगलतीकरतेरहतेहैं।येगलतियां जाने-अनजानेकारणोंसेहोतीहैं। लेकिनगलतीकरतेजानाभीकोई अच्छीबाततोनहीं।औरगलती होनेपरसॉरीनकहनातोवाकईठीक नहीं।घरहोयाबाहर,अगरहमएक सिंपलसिद्धांतबनालेंकिजबभी मुझसेछोटी-बड़ीकोईगलतीहोतीहै, बेशकउसेकोईदेखेयानदेखे,उस परकोईटोकेयानटोके,सॉरीयाक्षमा याचनाकेलिएकहेयानकहे,मुझे बेझिझकतुरंतसॉरीबोलनाहै।इससे हमअनगिनतलाभकेभागीबनेंगे। सबसेपहलेतोहमहल्काफीलकरेंगे, अंदरसेमजबूतफीलकरेंगेऔरझूठ बोलनेएवंआगेझूठकेचक्रव्यूहमें फंसनेसेबचेंगे।हमेंअपराधबोधनहीं कचोटेगातथाईगोप्रॉब्लमनहींहोगा।