ग्रीन एकाउंटिग को हथियार बना कोरोना से लड़ेंगे विद्यार्थी

चंद्रशेखरवर्मा,ग्रेटरनोएडा:कोरोनाकेसंक्रमणकेलिएवर्तमानमेंकोईकारगरइलाजनहींहै।शारीरिकप्रतिरोधक्षमताबढ़ाकररोगसेबचावकियाजासकताहै।इसकेलिएऔषधीयपौधोंकासहारालियाजारहाहै।इनपौधोंमेंगिलोय,एलोविरा,तुलसीआदिशामिलहैं।ऐसेमेंउच्चशैक्षिकसंस्थानोंमेंग्रीनएकाउंटिकअभियानकीशुरुआतकीगईहै।इसमेंमहाविद्यालयोंकोपरिसरमेंमौजूदऔषधीयपौधोंकीगणनाकरएकाउंटतैयारकरनाहोगा।इसकीजानकारीमेरठ-सहारनपुरस्थितक्षेत्रीयउच्चशिक्षाकार्यालयकेसाथसाझाकरनीहोगी।मकसदइनसेकाढ़ाआदितैयारकरविद्यार्थियोंवशिक्षकोंकोजागरूककरनाहै।

मेरठ-सहारनपुरमंडलकेक्षेत्रीयउच्चशिक्षाअधिकारीडॉ.राजीवकुमारगुप्तानेबतायाकिकोरोनामहामारीनेवैश्विकस्तरपरप्रभावडालाहै।शरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबढ़ाकरहीबीमारीसेबचावसंभवहै।भारतमेंपौराणिककालसेहीऔषधीयपौधोंकाइस्तेमालउपचारकेलिएहोताआयाहै।आयुर्वेदमेंकईनुस्खेभीदिएगएहैं।वर्तमानमेंलोगइनकाइस्तेमालप्रतिरोधकक्षमताकोविकसितकरनेमेंकररहेहैं।उच्चशैक्षिकसंस्थानोंकेपरिसरमेंकईऔषधीयपौधेलगेहोतेहैं।जानकारीकेअभावमेंलोगोंकोपतानहींहोता।इनमेंगिलोय,एलोविरा,तुलसी,नीमआदिशामिलहैं।कोरोनाकालमेंयेपौधेमहत्वपूर्णभूमिकानिभासकतेहैं।ऐसेमेंचौधरीचरणसिंहविश्वविद्यालयसेसभीसंस्थानोंकोपत्रभेजागयाहै।इसमेंकहागयाहैकिपरिसरमेंमौजूदऔषधीयपौधोंकीगणनाकरएकाउंटतैयारकियाजाए।इसकोकार्यालयकेसाथसाझाकियाजाए।मकसदस्वयंसेवीसंस्थानोंकेसाथमिलकरप्रतिरोधकक्षमताबढ़ानेकेलिएकाढ़ाआदितैयारकरानाहै।इसकेलिएसंस्थानकेवनस्पतिविभागकोजिम्मेदारीसौंपीजाएगी।वनस्पतिविभागनहोनेकीदशामेंवनविभागकीमददलीजासकतीहै।महाविद्यालयखुलनेकेबादवनस्पतिविभागकेशिक्षकोंवविद्यार्थियोंकीटीमगठितकीजाएगी।येटीमअन्यशिक्षकवविद्यार्थियोंकोसोशलमीडियाकेमाध्यमसेपौधोंकीजानकारीदेंगे।वहीं,इनसेबननेवालेकाढ़ेकीप्रक्रियाभीबताएंगे।

बरसातमेंकरेंपौधारोपण

डॉ.गुप्तानेबतायाकिकोरोनाकेसाथहीजीवनजीनाहै।ऐसेमेंइनऔषधीयपौधोंकीहमेशादरकाररहेगी।बरसातकामौसमशुरूहोनेवालाहै।ऐसेमेंशिक्षकवविद्यार्थीऐसेपौधोंकेरोपणकीजिम्मेदारीलें।