गरीब की कोई जाति नहीं होती : सिद्धार्थ नाथ ¨सह

हरदोई:गरीबकीकोईजातिनहींहोतीहै।चुनावकेसमयविभिन्नराजनैतिकदलगरीबोंकोजातियोंमेंबांटकरउनसेवोटलेनेकाकामकरतेहैं।शनिवारकोयहबातआरआरइंटरकालेजकेप्रांगणमेंजिलास्वास्थ्यसमितिद्वाराआयोजितप्रधानसम्मेलनमेंचिकित्साएवंस्वास्थ्यमंत्रीसिद्धार्थनाथ¨सहनेकहीं।

मंत्रीनेकहाकि70वर्षोंमेंकिसीभीसरकारनेस्वास्थ्यवशिक्षाकेऊपरध्याननहींदिया।उन्होंनेकांग्रेसपरहमलाकरतेहुएकहाकिपूर्वप्रधानमंत्रीइंदिरागांधीनेगरीबीहटाओकानारादियाथा,जोसिर्फजुमलासाबितहुआ।परिस्थितियांगरीबबनातीहैं।सरकारकीयोजनाएंगिनातेहुएउन्होंनेकहाकिआशाबहुएंग्रामपंचायतोंमेंसरकारीयोजनाओंकोघर-घरपहुंचारहीहैं।इनयोजनाओंकेतहततयराशिउनकेखातेमेंसमयसेपहुंचनीचाहिए।सदरविधायकनितिनअग्रवालनेसपाकोबसपाकीबैशाखीबतातेहुएकहाकिभाजपासरकारनेदोगुनीतेजीसेदेशवप्रदेशकाविकासहुआहै।इससेपहलेस्वास्थ्यमंत्रीनेसीएचसीबावनऔरजिलाचिकित्सालयमेंपीडियाट्रिक्सकक्षकालोकार्पणकिया।इसदौरानसांसदअंशुलवर्मा,विधायकरजनीतिवारी,भाजपाजिलाध्यक्षसौरभमिश्रा,डीएमपुलकितखरे,सीडीओआनंदकुमार,सीएमओडा.एसकेरावत,डा.जुबैरअहमद,डा.अशुलओमर,डा.सारिका,नगरपालिकाध्यक्षसुखसागरमिश्रमधुरआदिमौजूदरहे।