ग्रामीण क्षेत्रों में फल-फूल रहा बिना अनुज्ञप्ति के दवा दुकान

सहरसा।बिनाअनुज्ञप्तिकेप्रखंडक्षेत्रमेंदर्जनोंदवादुकानफल-फूलरहाहै।इतनाहीनहीं,बिनाशिक्षाग्रहणकिएहीदवादुकानदारचिकित्सकबनकररोगियोंकाबेधड़कइलाजकररहेहैं।इसकेबावजूदविभागीयअधिकारियोंकोइसकीभनकतकनहींहै।याफिरजानकरभीअनजानबनेहुएहैं।परिणामस्वरूपइनकाशिकारबनलोगपरेशानहोरहेहैं।

मालूमहोकिप्रखंडअंतर्गतबिहराबाजार,पटोरीबाजार,पंचगछियारेलवेस्टेशनबाजार,खादीपुरबाजार,सिहौलचौक,तुलसियाहीचौक,रहुआचौककेअलावेबारा,पुरीख,रकियाविशनपुर,आरणआदिग्रामीणक्षेत्रोंमेंभीबड़ीदवादुकानहैं।जहांदवादुकानदारहीछोटी-बड़ीएवंअसाध्यरोगोंकाइलाजबेहिचककरतेहैं।खासकरप्वाइजनिगमामलेमेंयेदुकानदारमनमानीराशिवसूलकरतेहैंतथाकिसीकोइसकीभनकतकनहींलगनेदेतेहैं।इनबाजारोंमेंअनगिनतदर्जनोंदवाकीदुकानसरकारीनियमकीधज्जियांउड़ाअपनादुकानसंचालितकररहेंहै।

जानकारीकेअनुसार,बिहरापटोरीबाजारमेंहीलगभगदोदर्जनअवैधमेडिकलसंचालितहैंजोकिदवाबेचनेकेसाथ-साथगरीबमजलूमकोअपनाशिकारबनातेहैंऔरपैसालूटतेहैं।हालांकिइनदुकानदारोंकोभीड्रग्सइंस्पेक्टरकेद्वारानिर्धारितराशिप्रत्येकमाहनजरानाकेतौरपरदेनापड़ताहै।जिसकेचलतेबिनाकिसीभयकेदुकानदारअपनाकारोबारकररहेहैं।------------

ग्रामीणोंकाहैकहना

दौरमानिवासीशंकरपासवान,बरहशेरनिवासीसंजयरामनेबतायाकिहल्केपेटदर्दमेंबिहराबाजारकेएकदवादुकानदारनेमुफ्तकाचारहजारकाबिलबनादिया।जबकिउसीसमस्याकोदूरकरनेकेलिएजिलेकेएकडॉक्टरनेमहज25रुपयेकीदवाईसेठीककरदिया।वहींसिहौलनिवासीसुरेन्द्रकामतनेबतायाकिदवाईदुकानदारकोरेक्सऔरनकलीदवाबेचताहै।जिससेलोगोकीतबीयतसुधरनेकेबजायअसाध्यहीहोजाताहैं।

दवादुकानदारद्वारारोगियोंकाइलाजकरनाविभागीयनियमकेविरुद्धहैंतथागंभीरमामलाहै।स्थानीयलोगोंद्वाराभीशिकायतकीगईहैं।ऐसेदुकानदारोंकेविरुद्धकार्रवाईहेतुविभागीयअधिकारीकोजानकारीदीगईहै।

डॉ.रमेशकुमारसिंह

प्रभारीचिकित्सापदाधिकारी

पीएचसीपंचगछिया।