ग्रामीण इलाकों में बच्चे अधिक कुपोषित

रविद्रनाथ,कोडरमा:देशमेंसबसेअधिकझारखंडमेंकरीब43फीसदबच्चेकुपोषणकेशिकारहैं।यहविचारणीयहैकिबच्चेहीकुपोषणकाशिकारहोजाएंगेदेशवराज्यकेभविष्यपरसवालउठनालाजिमीहै।राज्यसरकारद्वाराकुपोषितबच्चोंकास्वास्थ्यबेहतरकरनेकेलिएलगातारअभियानचलाएजारहेहैं।हालांकिगरीबीऔरजागरूकताकीकमीइसमेंसबसेबड़ीबाधाहै।ग्रामीणइलाकोंमेंनिचलेतबकों,आदिवासीपरिवारोंकेबच्चोंमेंकुपोषणकेमामलेअधिकसामनेआतेहैं।

जिलेमेंपांचसालतककुपोषितबच्चोंकास्वास्थ्यबेहतरकरनेकेलिएतीनकुपोषणउपचारकेंद्रहैं।सदरअस्पतालकेअलावाडोमचांचवसतगावांमेंकुपोषणउपचारकेंद्रबनाएगएहैं।डाक्टरोंकेअनुसार,सहीखानपाननहींमिलनेकेकारणबच्चेवबड़ेकुपोषणकेशिकारहोतेहैं।गरीबीकेकारणहीलोगोंकोपोषकआहारनहींमिलपाताहै।सदरअस्पतालमेंकार्यरतकाउंसलरपूनमकुमारीनेबतायाकियहांएकमाहसेपांचसालतककुपोषितबच्चोंकोजरूरतकेअनुसारभर्तीकरइलाजकियाजाताहै।सामान्यतयाबच्चोंकीउम्र,लंबाईऔरवजनकेअनुसारउसकेस्वास्थ्यकापताचलताहै।पांचसालसेअधिकउम्रकेकुपोषितबच्चोंआंगनबाड़ीकेंद्रमेंपोषकआहारवविटामिसदिएजातेहैं।

कुपोषणकेहैंचारस्टेज

छोटेबच्चोंमेंकुपोषणकापैमानातयकरनेकेलिएचारस्टेजबनाएगएहैं।स्टेजएकऔरदोमेंकुपोषणउपचारकेंद्रमेंभर्तीनहींकियाजाता।स्टेजतीनवचारकीस्थितिहोनेपरवार्डमेंभर्तीकरलियाजाताहै।यहांजरूरतकेअनुसारकरीब15दिनतकबच्चेकोरखकरउसेपोषकआहारदियाजाताहै।साथहीबीमारहोनेपरइलाजकियाजाताहै।अगरएकसालकेबच्चेकीलंबाई70सेंटीमीटरहैऔरउसकावजननौकिलोहैतोस्टेजएक,आठकिलोहोनेपरस्टेजदो,छहकिलाहोनेपरस्टेजतीनऔरसाढ़ेतीनकिलोहोनेपरस्टेजचारमानाजाताहै।इसआधारपरउनकाइलाजकियाजाताहै।

कुपोषणकीपहचान

उम्रवलंबाईकेअनुसारवजनकमहोना,

सुखापन,भूरेबाल,उम्रकेअनुसारलंबाईकमहोना,घुटनेमेंटेढ़ापन।एकमाहकेबच्चेकादोकिलोथावजन,सुधरीहालत

सदरअस्पतालमेंकार्यरतएएनएमसरस्वतीकुमारीमेहतानेबतायाकिसतगावांप्रखंडकेपीहराजगदीशपुरनिवासीमनोजदासपत्नीवकरीबएकमाहकेबच्चेकोलेकरकेंद्रपरआयाथा।उससमयबच्चेकावजनदोकिलोग्रामथा।उसकीहालतदेखकरबचनेकीउम्मीदभीकमलगरहीथी।उन्होंनेउसेवार्डमेंभर्तीकराया।16दिनकेंद्रमेंभर्तीरहनेकेबादउसकेस्वास्थ्यमेंसुधारहुआऔरअबउसकावजनकरीबसाढ़ेतीनकिलोहै।

बच्चोंमेंकुपोषणहोनेकेकईकारणहैं।इनमेंसेमाताकाउम्रकमहोना,दोबच्चोंकेबीचअंतरालकमहोना,गर्भकेसमयमहिलाकोपोषकआहारकीकमीमुख्यहैं।अशिक्षाकेकारणकमउम्रमेंमहिलाओंकीशादीहोजातीहै।साथहीकमउम्रमेंबच्चेहोजातेहैं।गरीबीभीबड़ाकारणहै,लेकिनशाक-सब्जीज्यादाखिलाकरउनकास्वास्थ्यबेहतरकियाजासकताहै।केंद्रमेंआनेवालेबच्चोंकोअधिकप्रोटीनयुक्तदूध,जिक,आयरन,मल्टीविटामिनआदिदियाजाताहै।

-डा.भारती,शिशुरोगविशेषज्ञ,कुपोषणउपचारकेंद्र