गोराया में लोगों को डेंगू के खिलाफ जागरूक किया

संवादसहयोगी,गोराया

डेंगूकेखिलाफलोगोंकोजागरूककरनेकेलिएकम्युनिटीहेल्थसेंटरबड़ापिडमेंराष्ट्रीयडेंगूदिवससीनियरमेडिकलअफसरडा.ज्योतिफुकेलाकीअध्यक्षतामेंमनायागया।इसमेंडा.ज्योतिनेकहाकिडेंगूकाइलाजसमयपरकरनाबहुतजरूरीहै।जानकारीकीकमीकेकारणहरसालहजारोंलोगडेंगूकीचपेटमेंआजातेहैं।डेंगूसेपीड़ितमरीजोंकीसमयपरइलाजनहोनेकेकारणमौतहोजातीहै।पूरेविश्वमेंहरसाल50से100मीलियनतकलोगइसबीमारीकीचपेटमेंआतेहैं।

डा.ज्योतिनेबतायाकिडेंगूएकवायरलबुखारहै,जोकिजडेंगूएडीजएजीपटीमच्छरकेकाटनेसेफैलताहै।पहलेमच्छरडेंगूसंक्रमितव्यक्तिकोकाटलेताहै,जिसकेबादवहतंदुरुस्तव्यक्तिकोकाटताहै,जिससेवायरसशरीरमेंदाखिलहोजाताहै।उन्होंनेबतायाकिडेंगूहोनेकेबादव्यक्तिकोबुखार,सिरदर्द,चेचकजैसेधब्बे,मासपेशियोंवजोड़ोंमेंदर्द,आंखोंकेपिछलेहिस्सेमेंदर्दआदिहोतेहैं।मरीजकेमुंह,गलेयाछातीकेऊपरलालरंगकेदानेदिखाईदेतेहैं।इसकेबादबुखारहोसकताहैऔरयेजानलेवाभीहोसकताहै।नहींहैकोईवैक्सीन

हेल्थसुपरवाइजरसतनामसिंहनेबतायाकिडेंगूसेबचावकेलिएअभीतककोईवैक्सीननहींआईहै।डेंगूसेबचावकासबसेज्यादाअसरदारतरीकामच्छरोंकीगिनतीपरकाबूपानाहै।एडीजमच्छरटायरों,बोतलों,कूलरों,गुलदस्तोंआदिमेंखड़ेपानीमेंफैलताहै।हमेंइनकोसमय-समयपरखालीकरतेरहनाहै।