गंगा की रेती में तैयार होने लगी परवल की खेती

-सेमराध,नगरदह,पुरवांगंगातटपरनिराई-गुड़ाईमेंजुटेकिसान

-स्वास्थ्यकेलिएलाभकारी,पैदावारसेसुधरेगीकिसानोंकीहालत

जासं,ऊंज(भदोही):भोजनकीथालीमेंसब्जियोंकेरूपमेंअच्छीखासीपहचानबनाचुकीपरवलएकबहुवर्षीयफसलहै।परवलबहुतहीपौष्टिकस्वास्थ्यवर्धकवऔषधीयगुणोंसेभरपूरएवंआसानीसेपचनेवालीशीतलपित्तनाशकसब्जीहै।इसमेंविटामिन,कार्बोहाइड्रेटतथाप्रोटीनकीप्रचुरतापाईजातीहै।ऐसेमेंजिसतरहयहस्वास्थ्यकेलिएगुणकारीहैउसीतरहयदिइसकीखेतीसेमिलनेवालीउपजसेकिसानोंकीमालीहालतभीसुधरसकतीहै।विशेषकरगंगाकीरेतीमेंपरवलकीखेतीतैयारहोनेलगीहै।लहलहानेलगीपरवलकेपौधोंकोदेखकिसानभरपूरपैदावारकोलेकरआशान्वितहोनेलगेहैं।

डीघब्लाकक्षेत्रकेसेमराधनाथधामसहितनगरदह,पुरवांसहितअन्यस्थानोंपरगंगातटकेकिनारेरेतमेंपरवलकीखेतीबहुतायतमेंहोतीहै।खासबातयहहैकिस्थानीयलोगोंकेयहांअन्यजिलोंसेआकरलोगकिसानोंकेखेतकोलीजपरलेकरपरवलकीखेतीकरतेहैं।मौजूदासमयमेंपरवलकेपौधेजहांबढ़वारकीओरहैंतोफसलकोदेखकिसानपूरीमेहनतकेसाथफसलकीदेखभालकरनेमेंजुटेहुएहैं।परवलकीखेतीकरनेवालेअशोक,रामराजआदिनेबतायाकिवहप्रतिवर्षपरवलकीबोआईकरतेहैं।किसानपरिवारमौजूदासमयमेंफसलकीनिराई-गुड़ाईमेंलगीहुईहैं।बतायाकिइसकीपैदावारसेहोनेवालीआमदनीसेपूरेपरिवारकाखर्चचलातेहैं।बहरहालरेतमेंपरवलकीखेतीतैयारहोनेलगीहै।