गंगा-जमुना संस्कृति के अग्रदूत हैं मोहम्मद रईस, रामलीला में निभाते भगवान राम, भरत और हिन्दू देवताओं के चरित्र

उदयपुर, सुभाषशर्मा।हमारेदेशकीगंगा-जमुनासंस्कृतिविश्वप्रसिद्धहैं।यहांहर धर्मकेलोगएक-दूसरेकेधर्मकापूराआदरहीनहींकरतेबल्किएक-दूसरे कीधार्मिकरीति-नीतियोंमेंभीरच-बसजातेहैं।ऐसेहीएककिरदारहैं- मोहम्मदरईस।जोगंगा-जमुनासंस्कृतिकेअग्रदूतहैं।एकदशकसेअधिकसमयसेवहरामलीलामेंभगवानरामसहितविभिन्नदेवताओंकेचरित्रनिभातेआ रहेहैं।कश्मीरसेकन्याकुमारीतथाउदयपुरसेआसामतकहीनहीं,बल्किविदेशमेंआयोजितरामलीलामेंवहयहीकिरदारनिभातेआरहेहैं।पिछलेदिनोंउन्होंनेअयोध्यामेंआयोजितरामलीलामेंभगवानरामकारोलनिभायाऔरअबउदयपुरमेंआयोजिततीनदिवसीयरामलीलामेंभरतकाकिरदारनिभारहेहैं।

उदयपुरमेंआयोजिततीनदिवसीयरामलीलाकार्यक्रममेंभागलेनेदिल्लीसे आएकलाकारमोहम्मदरईससेमुलाकातहुईऔरउनसेबातचीतमेंपताचलाकिवहएकदशकसेदिल्लीकीसंस्थाकार्तिकेयसांस्कृतिकसंस्थाकेसाथशौकियाना कामकरतेरहे।जहांपांचदर्जनसेअधिककलाकारदेशभरमेंविभिन्नसांस्कृतिक,धार्मिकएवंअन्यकार्यक्रमोंकेलिएजातेरहतेहैं।जिसमें रामलीलाल,अग्रसेनलीलाकीमांगसर्वाधिकरहतीहै।वहमुस्लिमपरिवारसेहोतेहुएभीरामलीलामेंहमेशासेअहमकिरदारनिभातेआएहैं।जिनमेंभगवानराम,भरतप्रमुखहैं।

मोहम्मदरईसकहतेहैंकिइससेयुवाओंमेंअपनेधर्मऔरकिरदारोंकेप्रतिजाननेकाअवसरमिलताहै।अबयुवाधार्मिकज्ञानसेपरेहोतेजारहेहैंऔरटीवीतथाफिल्मोंकेजरिएवहअसलकहानी एवंचरित्रकेबारेमेंनहींजानपाते।रामलीलाएवंअन्यधार्मिकलीलाओंकेजरिएउन्हेंअसलकहानीकापताचलताहै।वहकहतेहैंकिहमजिन्हेंपूजतेहैंउनकेबारेमेंजाननाबहुतजरूरीहै।मुस्लिमहोनेकेबावजूदकभीभीउनकेपरिजनोंएवंसमाजकेलोगोंनेउन्हेंइसतरहकेकिरदार निभानेसेनहींरोका,बल्किउसेप्रोत्साहितहीकिया।

उन्होंनेकहाकिथियेटरकलाकारोंकेलिएकामकीकमीनहीं।उनकेग्रुपमें जुड़ेज्यादातरकलाकारसरकारीसेवाओंकेसाथखुदकाबिजनेसकररहेहैं।इसकेबावजूदउन्हेंकामकीकमीनहीं।कईबारतोमहीनेमेंबीस-बीसदिनकाममिलजाताहै।भलेहीवहउदयपुरपहलीबारआएहैंलेकिनजयपुरअकसरआतेरहतेहैं।

अयोध्यामेंभगवानरामकारोलऔररामललाकेदर्शनमोहम्मदरईसबतातेहैंकिरामजन्मभूमिकेनिर्णयसेपहलेअयोध्यामें आयोजितरामलीलामेंउन्होंनेभगवानरामकाअहमकिरदारनिभाया।अयोध्यामेंरहतेहुएवहहररोजरामललाकेदर्शनकरनेजातेथे।इसकेलिएउनके ग्रुपकोउत्तरप्रदेशसरकारकीओरसेसुरक्षामिलीहुईथीलेकिनवहबिनासुरक्षायासादावर्दीमेंहोनेपरहीसुरक्षाकर्मियोंकेसाथरामललाके दर्शनकरनेपहुंचे।