घर से करेंगे पानी बचाने की शुरूआत

जागरणसंवाददाता,वृंदावन:जलहीजीवनहै,जलजागरणअभियानमेंनकेवलस्कूलीबच्चेबल्किआधीआबादीभीजुड़करसमाजकोपानीबचानेकासंकल्पदेरहीहै।पानीकासबसेअधिकउपयोगकरनेवालीमहिलाएंआजपानीकीकीमतसमझकरलोगोंमेंजागरूकतापैदाकरनेकीकोशिशमेंजुटीहैं।महिलाओंकेअनुसारपानीकीबचतसेनकेवलदेशबल्किदुनियाकोभीलाभपहुंचेगा।सामुदायिकविकाससमितिकेजरिएसमाजसेवामेंजुटेमहिलासंगठननेजलजागरणकीपहलकीसराहनाकरतेहुएइससेजुड़नेकानिर्णयलिया।

ब्रह्मकुंडस्थितकैंपकार्यालयपरआयोजितबैठकमेंमहिलाओंकोपानीबचानेकेलाभकीजानकारीदेतेहुएसमितकीअध्यक्षकिशोरीपाठककहतीहैंकिघरोंमेंसबसेअधिकपानीकाउपयोगमहिलाएंहीकरतीहैं।हमपानीबचानेमेंसबसेअधिकयोगदानदेसकतेहैं।कईबारहममहिलाएंनगरनिगमकीसप्लाईसेअपनीजरूरतपूरीहोनेकेबावजूदपानीकोखुलाछोड़देतेहैं।हमेंइसतरहपानीकीबर्बादीकोरोकनाहोगा।उन्होंनेपानीकीकीमतपहचाननेकाहवालादेतेहुएकहाकिअगरएकदिनजबसप्लाईकापानीनहींआए,उसदिनहमेंकितनीकठिनाईकासामनाकरनापड़ताहै।हमेंसमयरहतेपानीकीकीमतकोसमझनाचाहिए।राधाशर्मानेकहापानीकीबचतहमेंअपनेघरोंसेहीशुरूकरनीहोगी।हममिशालकेतौरपरपानीबचाकरसमाजकोसंदेशदेनेमेंकामयाबहोसकतेहैं।आजजमीनकेअंदरजलस्तरमेंगिरावटहोरहीहै,गर्मीकेदिनोंमेंबो¨रगसेआनेवालेपानीमेंकमीहोजातीहै।येसबपानीकीबर्बादीकेकारणहीहोरहाहै।समयरहतेहमनेपानीबचानेकेप्रयासनहींकिएतोआनेवालेसमयमेंपानीकीकमीसेजूझनापड़सकताहै।

-महिलाएंपानीबचानेकासंदेशदेनेमेंजल्दहीकामयाबहोसकतीहैं।घरमेंपानीकीबचतकरनेकेउपायकरकेवेमिसालपेशकरसकतीहैं।पानीबचानाहमाराकर्तव्यहोनाचाहिए।

-किशोरीपाठक,अध्यक्ष,सामुदायिकविकाससमिति-जलहीजीवनहै।अगर,इसलाइनकोहमअपनेजीवनमेंउतारलेंतोपानीबचानाहमारेलिएकठिनाईभरानहींहोगा।मगर,लोगोंकोआजपानीबचानेकेलिएजागरूकहोनापड़ेगा,आनेवालीपीढ़ीकेलिए।

-ममताभारद्वाज,प्रदेशमहासचिव,विश्वब्राह्मणसंघ