गांवों की सत्ता पाने को इस बार इंटरनेट मीडिया को हथियार बना रहे उम्मीदवार

संवादसहयोगी,जालौन:पंचायतचुनावोंकीतैयारीशुरूहोतेहीसंभावितउम्मीदवारोंनेलोगोंसेसंपर्कऔरमेलजोलबढ़ानाशुरूकरदियाहै।इसबारप्रत्याशीपरंपरागततरीकोंकेअलावाइंटरनेटमीडियाकाभीसहारालेरहेहैं।हालांकिजिलेमें26अप्रैलकोमतदानहोनाहैलेकिनसरगर्मियांअभीसेबढ़ीहुईहैं।

कोरोनाकीदूसरीलहरकेबीचभीलोगोंमेंत्रिस्तरीयपंचायतचुनावोंकाजोशकमनहींहुआहै।गांवोंमेंप्रधान,क्षेत्रपंचायतसदस्यकेसाथजिलापंचायतसदस्यकेसंभावितउम्मीदवारअपनेअपनेसमीकरणफिटकरनेमेंलगेहैं।दावेदारोंनेअभीसेताकतलगारखीहै।गांवकेनुक्कड़ोंऔरचौपालोंमेंसुबहऔरशामबैठकेंसजनेलगीहै।दावेदारमतदाताओंकेसुख-दुखमेंभागीदारहोकरउनकीसेवामेंजुटेहैं।दूसरीबारप्रधानीकाचुनावलड़नेकीतैयारीकररहेएकनौजवानदावेदारकेअनुसारप्रधानीकाचुनावसांसदी(लोकसभा)सेज्यादामु्िश्कलहै।एक-एकवोटकाहिसाबरखनापड़ताहै।यदिहिसाबनरखातोसीटहाथसेगईहीसमझो।मौजूदाप्रधानजिन्हेंफिरसेचुनावलड़नाहैवोअपनेविकासकार्योंकीदुहाईदेरहेहैं,तोबाकीचुनावमेंउतरनेकोतैयारदावेदारनसिर्फवोटरोंकोखुशकरनेकोशिशमेंहैबल्किवोमौजूदाप्रधानोंकेकमियांभीगिनारहेहैं।हालांकि26अप्रैलकोहोनेवालेमतदानकेलिएअभीचुनावचिन्हकाआवंटननहींकियागयाहै।अभीसिर्फनामांकनपत्रोंकीबिक्रीहीचलरहीहै।लेकिनगांवोंमेंमाहौलअभीसेहीचुनावीहोनेलगाहै।पंचायतचुनावोंमेंआरक्षणकेचलतेजिनकीदावेदारीखत्महोचुकीहैवहअपनेकिसीखासव्यक्तिकेपक्षमेंरहकरजनसंपर्कमेंलगेहुएहैं।वहीं,मतदाताओंकामनमिजाजइसबारबदला-बदलासानजरआरहाहै।वेविश्वासकेसाथछलकरनेवालेजनप्रतिनिधियोंकोधूलचटानेकामौकागंवानानहींचाहरहेहैं।इसबारयुवाउम्मीदवारोंकाचुनावमेंउतरनेकाएकअलगरिवाजदिखरहाहै।युवाउम्मीदवारइंटरनेटमीडियापरअधिकसक्रियदिखरहेहैं।व्हाट्सएपग्रुपबनाकरदावेदारसोशलमीडियाकेसहारेलोगोंकोरिझानेकीकोशिशकररहेहैं।पिछलेकुछचुनावकीबातकरेंतोमतदानसेपहलेगांवकीगलियांपोस्टरऔरबैनरसेपटेहोतेथे।लेकिनइसबारनजाराकुछअलगहै।डिजिटलयुगमेंसंभावितप्रत्याशीइंटरनेटमीडियाकेसहारेहीअपनीजीतकीइबारतलिखनेकोउत्सुकनजरआरहेहैं।कईबारविवादितपोस्टमाहौलकोबिगाड़नेकाकामकरतेहैं।जिसेदेखतेहुएप्रशासनइसदिशामेंसंवेदनशीलहै।विवादितपोस्टडालनेवालोंपरहोगीकार्रवाई

पुलिसअधीक्षकडॉ.यशवीरसिंहनेबतायाकिइंटरनेटमीडियापरविवादितपोस्टडालनेवालोंपरकार्रवाईकीजाएगी।साइबरसेलकोइसकेलिएसक्रियकियागयाहै।