Flood Effect on Floriculture: यमुना नदी की बाढ़ में समा गया लाखों रुपये के फूलों का व्यवसाय

प्रयागराज,जेएनएन।प्रयागराजमेंगंगा-यमुनाकीबाढ़नसिर्फलोगोंकोप्रभावितकररहीहै,बल्किइससेलाखोंकाफूलकारोबारभीठपपड़गयाहै।बतादेंकियमुनानदीपरबनेपुरानेऔरनएपुलकेबीचसैकड़ोंबीघेजमीनपरफूलोंकीखेतीहोतीहै।नैनीक्षेत्रमेंयहस्‍थलहै।यमुनानदीकाजलस्‍तरबढ़ातोइनसैकड़ोंबीघेभूमिपरबाढ़कापानीघुसगयाहै।क्षेत्रपूरीतरहसेजलमग्‍नहोचुकाहै।इससेफूलोंकीखेतीखराबहोचुकीहै।

प्रतिदिन70लाखरुपयेकाकारोबारप्रभावित

नैनीइलाकेइसस्‍थलपरकाफीसंख्‍यामेंसफेदा,गेंदा,औरगुलाबकाबड़ेपैमानेपरउत्पादनहोताहै।यहांकेफूलप्रयागराजहीनहींआसपासकेकईजिलोंमेंअपनीमहकबिखेरतेंहैं।पुरानेपुलकेसमीपलगनेवालीफूलोंकीमंडीमेंप्रतिदिनकरीब70लाखरुपयेकाकारोबारहोताहै।करीबएककिलोमीटरकेदायरेंमेंसजनेवालीयहमंडीभोरहोतेहीगुलजारहोनेलगतीहै।सूरजनिकलनेकेसाथहीमंडीपूरेशबाबपरहोतीहै।मीरजापुर,भदोही,प्रतापगढ़,फतेहपुर,कौशांबी,मध्यप्रदेशकेरीवा,मनगवांसमेतकईजिलोंमेंसुबहवाहनोंसेफूलभेजेजातेहैं।

फूलोंकेबागमेंपांचफीटयमुनाकापानीभरा

पिछलेगुरुवारसेफूलकेखेतोंमेंयमुनाकापानीघुसनेलगाथा।सोमवारतकसैकड़ोंबीघेखेतपानीसेजलमग्नहोगए।गेंदाऔरगुलाबकीखेतीपूरीतरहसेबर्बादहोगई।शनिवारऔररविवारकीशामलोगोंनेबचेखुचेफूलतोड़लियाथा।खेतोंमेंपांचफिटसेअधिकपानीभरजानेकेबादअबकोईउधरजानेकासाहसनहींजुटापारहा।फूलकाआवककमहोनेसेसोमवारकीसुबहफूलविक्रेताओंकीसंख्याभीकाफीकमरहा।

सावनसोमवारपरआजफूलोंकीआवकआधी

भट्ठागांवनिवासीगुड़ियाकाकहनाहैकियहांप्रतिदिनकरीब60-70लाखरुपयेकाव्यवसायहोताहै।पिछलेदिनोंसेइसमेंगिरावटदर्जकीजारही।सोमवारकोगुलाबकेफूलकाआवकआधेसेभीकमरहा।प्रेमकुमारकाकहनाहैकिवहपिछलेतीनदशकसेयहांधंधाकररहे।बाढ़केदौरानअक्सरउन्हेंभारीनुकसानउठानापड़ताहै।बाढ़केएकमाहबादसेधंधेमेंरफ्तारआतीहै।इसदौरानधंधेमेंपचासफीसदकीकमीरहतीहै।महेंद्रकुमारकाकहनाहैकिबाढ़केदौरानहरसालउन्हेंइसमुसिबतकासामनाकरनापड़ताहै।