एक नियम कहता है जुर्माना 2.98 करोड़ वसूलो, दूसरा बताता है 1.64 करोड़ रुपए, इनमें से वसूली कितनी करें...सरकार संशय में

राज्यसरकारनेएकसंस्थानकोरियायतीदरपरजमीनतोदेदीलेकिनशर्तोंकीपालनानहींहोनेपरउससंस्थानसेसरकारजुर्मानाहीनहींवसूलपारहीहै।सरकारअपनेहीनियमोंमेंउलझकररहगईहैकिजुर्मानावसूलेंतोकितना।मामलाजगतपुरामहलरोडस्थितबॉम्बेहॉस्पिटलट्रस्टकाहै।राज्यसरकारसेमंजूरीकेबादजेडीएनेट्रस्टको20हजारवर्गमीटरभूमिकीसंस्थानिकलीजडीड16दिसंबर2009कोसौंपीथी।

शर्तोंकेमुताबिकमौकेपर5सालयानी2014तककामपूराकरनाथा।इसमें150करोड़कानिवेशतयथालेकिनकामअबतकपूरानहींहुआ।ऐसेमेंलीजडीडकीशर्तोंकेमुताबिकपैनल्टीवसूलनेकाप्रावधानहैलेकिनजयपुरविकासप्राधिकरणऔरनगरीयविकासविभागमिलकरइसकीराशहीतयनहींकरपारहेहैं।

शर्तोंकीउलझनमें1करोड़34लाखरुपएदांवपरलगेहैं।एकनियमसेजहांपैनल्टी1करोड़64लाखबनतीहै,वहींदूसरेसेयहबढ़कर2करोड़98लाखहोजातीहै।दोनोंकीगणनाकरतेहुएजेडीएने28सितंबरकोनगरीयविकासविभागकोलिखाहै।लेकिनवसूलीऔरकामदोनोंहीबाकीहैं।

जेडीएनेयूडीएचसेपूछा,वहभीअबतकतयनहींकरपायाकिनियमकौनसालागूकियाजाए

1-राजस्थानसुधारन्याय(शहरीभूमिनिस्तारण)नियम1974केतहतसंस्थागतप्रकरणोंमेंआवंटनतिथिसे2सालबादविक्रयराशिकी5प्रतिशतशास्तिलेतेहुएनिर्माणअवधिबढ़ानेकाप्रावधानहै।

2-नगरीयविकासविभागकेनोटिफिकेशन(4जनवरी2021)औरआदेश(29जून2021)केतहतपब्लिकचैरिटेबलसंस्थाओंवअन्यसंस्थाओंकेमामलोंमेंनिर्माणअवधि4सालनिर्धारितकीहुईहै।उसकेबाद10सालतकवर्तमानआरक्षितदरकीएकप्रतिशतप्रतिवर्षएवं10सालकेबाद2प्रतिशतप्रतिवर्षशास्ति(पुनर्ग्रहणशुल्क)लेनेकेआदेशहैं।

वसूलीदिसंबर2019तककी,दोनोंनियमोंकेबीचसख्तीऔरमदद...दोनोंछिपीहै

प्रकरणमेंलागूशर्त-नियमोंकेअनुसार21दिसंबर2019तककीपैनल्टीतयहोनीहै।इससेपहलेजेडीएने29अगस्त2021कोबॉम्बेहॉस्पिटलट्रस्टजरिएनिदेशकमनोजसिंगलनिवासी12न्यूमरीनलाइंसमुंबईकोलिखाकिआपनेआवंटनपत्रकीशर्तमुताबिकनियतअवधिमेंनिर्माणनहींकिया।ऐसेमेंनवंबर2010सेदिसंबर2019तककापुनर्ग्रहणशुल्क1.65करोड़रुपएजमाकराएजानेहैं।इसेअविलंबजमाकराएंताकिनियमानुसारभवननिर्माणस्वीकृतिबढ़ाईजासके।

जमीन99सालकीलीजपरआवंटितहै

ट्रस्टकोजमीन99सालकीलीजपरदीगईहै।शर्तोंकेतहतसंस्थाको10%बेडअलगसेगरीबोंकेनिशुल्कइलाजकेलिएरखनेहोंगे।इनमरीजोंकेइलाजमें25प्रतिशतदवाओं,25प्रतिशतडाइग्नोस्टकाव्ययस्वयंवहनकियाजाएगा।

अस्पतालप्रबंधनकादावा,कामतेजीसेकरारहेहैं

बजरीऔरकोविडसेअसरपड़ा।हाईराइजबिल्डिंगकेलिएअप्रूवलेंभीलेनीथी।650कीटीमलगाकरतेजीसेकामकरारहेहैं।अगलेसालतकपूराहोजाएगा।सरकारकासहयोगहै।कोईबातहैतोसुलझालेंगे।हमनेअपनाजवाबभेजाहुआहै।-मनोजसिंघल,डायरेक्टर,प्रोजेक्ट

सरकारकोलिखाहै

दोअलग-अलगनियमोंमेंवसूलीकामामलाहै।दो-तीनमहीनेपहलेनोटिसदिएथे।कामसमयपरनहींहुआतोजुर्मानालगेगा।राशितयकरनेकेलिएसरकारकोलिखाहुआहै।-विजेंद्रकुमारमीना,उपायुक्त,जोन-9,जेडीए

यूडीएचमेंभेजाहै

टाइमएक्सटेंशनकेलिएअप्लाईकियाथा।हमनेपुरानेनियमसेगणनाकरबकाया-पेनल्टीबतादी।नियमोंकामामलायूडीएचमेंतयहोनाहै,इसलिएवहांभेजाहुआहै।-गौरवगोयल,जेडीएकमिश्नर

लीगलसेलदेखेगी

लीगलसेलमामलेकापरीक्षणकरेगीकिकौनसेनियमकेतहतपैनल्टीलगेगी।संबंधितकोजल्दप्रक्रियापूरीकरनेकोकहाहै।-कुंजीलालमीणा,प्रमुखसचिव,यूडीएच