दूसरों के लिए मिसाल बने मोहाली के गांव रंगियां के अमरजीत, पारंपरिक तरीकों से किया फसली विविधीकरण

मोहाली[रोहितकुमार):जिलामोहालीकेखरड़ब्लॉककेगांवरंगियांकेरहनेवालेअमरजीतसिंहअपनी23एकड़जमीनकेसाथ40एकड़जमीनठेकेपरलेकरखेतीकररहेहैं।मूलरूपसेगांवदेसूमाजराकेरहनेवाले अमरजीतकीसिर्फतीनएकड़पैतृकजमीनथी।शहरीकरणकेचलतेयहजमीनऊंचेदामोंपरबिकीतोउन्होंनेगांवरंगिआंमें23एकड़खेतीयोग्यजमीनखरीदलीथी।इसकेसाथही40एकड़जमीनठेकेपरलेकरखेतीशुरूकरदी।फसलीविविधीकरणकीशुरूआतकरउन्होंनेएकमिसालकायमकीहै।अमरजीतसिंहनेपरालीबेचकरअपनीआमदनीकोबढ़ायाहै।उन्होंनेकृषिविभागकीक्रॉपरैजिड्यूजमैनेजमेंटस्कीमकेतहतरेकरऔरबेलरसब्सिडीपरलिएऔरइलाकेकेकिसानोंकोभीपरालीनजलानेकेलिएप्रेरितकिया।नारायणगढ़शुगरमिलकेसाथअमरजीतका1500टनपरालीदेनेकाइकरारनामाभीहुआथा।हालांकिअमरजीतबतातेहैंकिइसबारकिसानआंदोलनकेकारणइसमेंज्यादासफलतानहींमिलसकी।इसकेबादभीउन्होंने200एकड़जमीनसेप्राप्तहुईपरालीकीगांठेंतैयारकरवाईहैं।

कृषिविभागनेदेहरादूनकेएनिमलब्रीडिंगफार्मकलसीकेसाथअमरजीतसिंहकाइकरारनामाकरवायाहै।अमरजीतबतातेहैंकिदेहरादूनकेइसएनिमलब्रीडिंगफार्ममें517दुधारूपशुऔर90लावारिसपशुहैं।अमरजीतनेइसफार्मकोबीती4दिसंबरको32क्विंटलपराली180रुपयेप्रतिक्विंटलकीदरसेबेचीहै।अमरजीतसिंहनजदीकीशहरखन्नाकीभठ्ठियोंकोभी80रुपयेप्रतिक्विंटलकीदरसेपरालीबेचरहेहैं।परालीनिकालनेकेबादजोअवशेषबचजातेहैं,उन्हेंखेतमेंजोतदियाजाताहै।

रिवायतीतरीकोंकेसाथफसलीविविधीकरणअपनाचुकेअमरजीतसिंहकुदरतीसंसाधनोंकाइस्तेमालभीखेतीकेलिएबखूबीकररहेहैं।जिसमेंबरसातीपानीऔरसोलरपावरकाइस्तेमालप्रमुखहै।अमरजीतसिंहनेअपनेखेतमें650फीटगहराबोरकरवाकरवाटररीचार्जकेकुदरतीतरीकेकोअपनायाहै।वहकहतेहैंकिऐसेतरीकेअपनानेकेकारणउनकेखेतोंमेंभूजलस्तरनीचेनहींगिराहै।जबकिआसपासकेइलाकोंमेंभूजलकास्तरपिछलेसालमेंतेजीसेगिराहै।वाटररीचार्जकेअलावाअमरजीतबरसातीपानीकोएकछोटेतालाबमेंसंरक्षितभीकरतेहैं।सोलरपावरसेचलनेवालेइंजनकीमददसेइसपानीकाइस्तेमालखेतोंकीसिंचाईकेलिएकरतेहैं।

सब्जियोंकीकाश्तसेकीफसलीविविधीकरणकीशुरूआत

अमरजीतनेबतायाकिफसलीविविधीकरणकीशुरूआतउन्होंनेसब्जियोंकीकाश्तसेकी।लेबरकीकमीकेकारणउन्हेंसब्जियोंकीकाश्तछोडऩीपड़ी।इससमयवह23एकड़जमीनपरगन्नेकीकाश्तकररहेहैं।गन्नेकीयहफसलवहमोरिंड़ाकीकॉपरेटिवशुगरमिलकोदेरहेहैं।इसीरकबेपरवहआलूऔरफिरप्याजकीकाश्तकरविविधीकरणकोअपनारहेहैं।

30एकड़मेंकीधानकीसीधीबिजाई

अमरजीतसिंहनेइससाल30एकड़मेंधानकीसीधीबिजाईकी।वहकहतेहैंकिऐसाकरनेसेउन्होंनेतीनबारखेतकीसिंचाईकीबचतकीहै।अमरजीतसिंह6एकड़जमीनपरसरसोंऔर3एकड़मेंदालोंकीकाश्तभीकररहेहैं।अमरजीतबतातेहैंकिवहरासायनिकखादोंऔरकीटनाशकोंकाइस्तेमालनहींकरते।बल्किरिवायतीतरीकेअपनाकरऑर्गेनिकफार्मिंगकोअपनारहेहैं।वहबतातेहैंकिइससेजमीनकीउत्पादकक्षमताबढ़ीहै,जिससेफसलकाझाड़भीबढ़ाहै।