दो छोटे कमरों के प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे 110 बच्चे

जागरणसंवाददाता,इटावा:कांसीरामकालोनी(टीबीहास्पिटलकेपीछे)केनिर्धनबच्चेसर्वशिक्षाअभियानकेतहतमिलनेवालीबुनियादीसुविधाओंसेवंचितहैं।दोछोटेकमरोंमेंचलरहेप्राइमरीविद्यालयमें110बच्चेबैठनेकोलाचारहैं।कमरेजर्जरहालहैं।जगहकेअभावमेंजहांमिड-डेमीलकाखानाबनायाजाताहै,वहांपरभीबच्चेबैठानेकीकोशिशकीजातीहैतोचूल्हाजलानामुश्किलहोताहै।ऐसाप्रतीतहोताहैजैसेशिक्षाविभागकोबड़ेहादसेकाइंतजारहै।तभीतोविद्यालयखुलनेकेकरीब9वर्षोंमेंशिक्षाविभागकाकोईअधिकारीयहांजायजालेनेनहींपहुंचाहै।तंगहालकमरोंमेंठीकसेअध्ययनकरनातोदूरसांसलेनाभीदूभरहोताहै।सबसेबड़ीचितातोयहांकेशिक्षकोंवअभिभावकोंकोरहतीहै।प्रधानाध्यापकप्रदीपयादवनेजिसमनायोगसेबच्चोंकोपढ़ानेकाकामकियाहै,उससेविद्यालयमेंबच्चोंकीसंख्याबढ़ीहै।कालोनीमेंघूमनेवालेबच्चोंकोविद्यालयलाकरशिक्षाप्रदानकररहेहैं।उन्होंनेकबाड़ाबीननेवालेबच्चोंकाभविष्यसुधारनेकीपहलकीहै।बावजूदइसकेशिक्षाविभागसेविद्यालयकोकोईसहयोगनहींमिलरहाहै।विद्यालयमेंतीनशिक्षकहै।विद्यालयकीशुरुआततत्कालीनमुख्यमंत्रीमायावतीकेकार्यकालमेंवर्ष2011मेंकियागयाथा।विद्यालयकामामलासंज्ञानमेंआनेपरजिलाधिकारीजेबीसिंहनेबीएसएकोविद्यालयकाजायजालेकरउचितव्यवस्थाकिएजानेकेलिएनिर्देशितकियाहै।बीएसएअजयकुमारसिंहनेबतायाकिविद्यालयकानिरीक्षणकरलियागयाहै।बगलकेदोकमरेनेडाविभागकेपासहैं।जिलाधिकारीकोइसकेसंबंधमेंपत्रलिखाजारहाहै,जल्दहीउचितव्यवस्थाकराईजाएगी।