दिनभर चली बरसात से खेतों से लेकर मंडी तक भीगा धान

संवादसहयोगी,बराड़ा।लगातारदोदिनोंसेहोरहीमूसलाधारबरसातसेजहांगर्मीसेराहतमिलीतोवहींबरसातकेकारणनिचलेइलाकोंमेंपानीभरनेसेजन-जीवनअस्तव्यस्तहोगया।गलियोंवसड़कोंनालोंकागंदापानीओवरफ्लोहोकरबहनेलगा।वीरवारकोदिनभरचलीबरसातकेकारणकिसानोंकेलिएमुसीबतकापहाड़टूटपड़ा।बरसातसेजहांएकओरखेतोंमेंखड़ीतैयारफसलभीगीतोवहींमंडीमेंब्रिकीकेलिएआईफसलभीभीगगई।अपनीफसलकोयूंइसतरहबरसातमेंभीगादेखकिसानपरेशानहोगयाबतादेंकिअभीतकभीधानकीखरीदकीअधिकारिकघोषणानहींहोसकीहै।बतादेंकिकिसीबड़ेनुकसानकीआशंकासेबचनेकेलिएकिसानजल्दबाजीमेंअपनीधानकीफसलकोकाटकरमंडीमेंबेचनेकोलाचुकेहैलेकिनखरीदशुरूनहोनेकेकारणफसलमंडीमेंवमंडीकेबाहरसड़कोंपरयहां-वहांपड़ीहुईहै।एकअंदाजेकेमुताबिकअबतकअनाजमंडीबराड़ामें37हजारक्विंटलधानमंडीमेंब्रिकीकेलिएपहुंचचुकाहै।वीरवारकोहुईदिनभरबरसातकेदौरानकिसानमंडीमेंपड़ीअपनीधानकीफसलकोपानीसेबचातेदिखे।फसलकेबरसातमेंभीगनेकीवजहसेफसलकारेटभीप्रभावितहोताहै।जिससेकिसानोंकोआर्थिकनुकसानउठानापड़ताहै।आलूकीफसलकोदेरी

धानकीफसलकेबादआलूकीबुआईशुरूहोतीहै।जिसकारणकिसानजल्दहीअपनेखेतकोआलूबोनेकेलिएखालीकरनाचाहताहै।ऐसेमेंवहअपनेखेतमेंखड़ीधानकीफसलकोकाटकरबेचनेकीजल्दीमेंहोताहै।लेकिनदोदिनसेलगातारहोरहीबरसातनेकिसानोंकेअरमानोंपरपानीफेरदियाहै।बरसातकीवजहसेअबधानकीफसलकीकटाईदेरीसेहोगी।जिससेकिसानोंकोआलूकीबिजाईकरनेकेलिएकाफीसमयरुकनापड़ेगा।बाजारमेंपानीभरावसेहुईपरेशानी

दिनभरचलीबरसातकेकारणकस्बेकेकईसड़कोंवगलियोंमेंपानीजमाहोगया।जिससेलोगोंकोभारीपरेशानीकासामनाकरनापड़ा।दुकानोंकेआगेपानीजमाहोनेसेदुकानदारोंकोपरेशानीहुई।बरसातकेकारणगंदेपानीकेनालेओवरफ्लोहोगएऔरगंदापानीबाहरयहां-वहांएकत्रितहोनेलगा।गलियोंमेंभरेपानीकीवजहसेगलियोंनेतालाबकारूपलेलिया।गलियोंमेंपानीभरावहोनेकीवजहसेलोगोंकोगलियोंमेंगुजरनेकोपरेशानीहुई।