दिल्ली से फाजिल्का के लिए रवाना हुए किसान, आज होगा स्वागत

संवादसूत्र,फाजिल्का:दिल्लीमेंपिछलेएकसालसेचलरहाकिसानोंकाधरनाआखिरकारशनिवारकोसमाप्तहोगया।जिसकेचलतेदेशकेविभिन्नहिस्सोंसेइसकिसानीसंघर्षमेंहिस्सालेनेकेलिएगएकिसानअबधीरेधीरेकरकेलौटनेलगेहैं।फाजिल्काकेलिएभीकिसानोंकाएकशिष्टमंडलदिल्लीसेरवानाहोचुकाहै।जिसकाफाजिल्कामेंपहुंचनेपरभव्यस्वागतकरनेकेलिएतैयारियांशुरूहोगईहैं।इसकोलेकरगांवसलेमशाहमेंविशेषतैयारीकीजारहीहै,जहांबनाएजारहेमिष्ठानकालंगरआजटोलप्लाजापरलगायाजाएगा।इसमेंबड़ीसंख्यामेंकिसानशामिलहोंगे।

इसमौकेगांवसलेमशाहकेकिसानोंनेबतायाकिकिसानविरोधीबिलोंकेरद्दहोनेकेचलतेकिसानोंकीघरवापसीकोलेकरपूरेगांवकेसहयोगसेदेसीघीसेसंबंधितमिष्ठानबनाएजारहेहैं।जिसकेतहतटोलप्लाजाथेहकलंदरपरदेसीघीसेबनेमिष्ठानकालंगरलगायाजाएगाऔरकिसानोंपरफूलोंकीवर्षाकीजाएगी।उन्होंनेबतायाकिकिसानआंदोलनजबसेशुरूहुआहै,तबसेहीगांवसलेमशाहकेकिसानइसअंदोलनमेंबारीबारीकेसाथदिल्लीबार्डरपरसंघर्षमेंजातेरहेहैं।भलेहीवहांकोरोनाकालथायाबारिश,अंधेरी।वहांनौजवान,महिलाओंवबुजुर्गोनेयोगदानदेतेहुएसमर्पितभावनासेभागलिया।उन्होंनेकहाकिभारतीयकिसानयूनियनडकोंदाकेजिलाध्यक्षहरीशनड्डावसुभाषचंद्रकेनेतृत्वमेंकिसानलगातारसंघर्षोंमेंभागलेतेरहेहैं।इसलिएकिसानोंकोएकत्रितकरनेकाश्रेयइनपरजाताहै।