दहशत में पढ़ाई करने को मजबूर छात्राएं

संवादसहयोगी,कुलपहाड़(महोबा):बेटीबचाओ-बेटीपढ़ाओनारेकेबीचतहसीलमुख्यालयस्थितराजकीयबालिकाइंटरकॉलेजकीछात्राएंदहशतमेंशिक्षालेनेकोमजबूरहैं।जीर्ण-शीर्णभवनकभीभीहादसेकाकारणबनसकताहै,लेकिनजिम्मेदारआंखें-मूंदेबैठेहैं।

महाराजाछत्रसालवउनकेबेटोंनेअपनेशासनकालमेंबड़ातालाबसरोवरकेपीछेअनूठीरिहायशगाहकानिर्माणकरायाथा।राजशाहीसमाप्तहोनेकेबादइसेशासननेअपनेअधिकारमेंलेलिया।1972से93तकयहांतहसीलकार्यालयकासंचालनहुआ।उपजिलाधिकारीकाकार्यालयवआवासपरभीइसीपरिसरमेंथा।तकरीबन25सालपहलेइसभवनकोकंडमघोषितकरतहसीलकोस्थानांतरितकरदियागया।1993से1998तकयहपूरीतरहवीरानपड़ारहा।इसकेबादयहांबालिकाइंटरकॉलेजकीअनुमतिदेदीगई।जर्जरभवनकोहीझाड़-पोछकरस्कूलकेलिएतैयारकरदियागया।वर्तमानमेंयहपूरीतरहजर्जरहोचुकाहै।कबबड़ाहादसाहोजाए।येकहानहींजासका।

घटगईछात्राओंकीसंख्या

कॉलेजखुलनेकेबादपांचसालोंमेंछात्राओंकीसंख्या500पारकरगईथी।कुछसालोंतकहालातसामान्यरहे।अभिभावकोंकाध्यानजबजीर्ण-शीर्णइमारतपरगयातोउन्होंनेबच्चियोंकाप्रवेशअन्यत्रकरवादिया।वर्तमानमेंयहांसिर्फ150छात्राएंहीहैं।इसमेंसेऔसतन100छात्राएंहीस्कूलपहुंचतीहैं।-----------

राजकीयबालिकाइंटरकालेजशिक्षाकेनामपरछलावाहै।पैरवीकेबादभूमिमुहैयाकरादीगईहै,परशासनभवनकेनिर्माणकेलिएकिसीभीयोजनासेफंडउपलब्धनहीकरापारहाहै।

-राधेलालयादव,शिक्षाविदएवंअध्यक्षकुलपहाड़विकासमंच

शासन-प्रशासननेस्कूलोंकीमान्यताकेलिएढेरोंमानकबनाएं।मानककाचाबुककेवलनिजीस्कूलोंपरचलताहै।सरकारद्वारावित्तपोषितवसंचालितयहकालेजएकभीमानकपूरानहींकररहाहै।

-सीतारामसोनी,वरिष्ठनागरिक

राजकीयबालिकाइंटरकालेजपूरीतरहखस्ताहालतमेंहैं।सिस्टमसुधारकेलिएकबतकहादसोंकाइंतजारकियाजातारहेगा।

-संतोषचतुर्वेदी,अध्यक्ष,कुलपहाड़उद्योगव्यापारमंडल

जिसभवनमेंगोशालाभीनहींचलनीचाहिएवहांपाठशालासंचालितकीजारहीहै।यहअपराधहै,जोशासनप्रशासनकीदेखरेखमेंकियाजारहाहै।

-शिवनारायनखरे,पूर्वअध्यक्ष,बारएसोसिएशनमैनेविद्यालयकानिरीक्षणकियाहै।हालातबहुतहीदयनीयहैं।मुझसेपहलेअधिकारियोंऔरमैनेभीशासनकोअवगतकरातेहुएनएभवनकाप्रस्तावभेजाहै।स्वीकृतिमिलनेकेबादहीकुछकियाजासकताहै।

-सुरेशप्रताप¨सह,जिलाविद्यालयनिरीक्षक