Dhoni ने बताया कौन से हैं वे 2 ऐतिहासिक लम्हे जिन्हें वे कभी नहीं भूल सकते, आप भी जानिए

मुंबई,पीटीआइ।पूर्वभारतीयकप्तान महेंद्रसिंहधौनीअंतरराष्ट्रीयक्रिकेटसेसंन्यासलेंगेयाफिरवहमैदानपरवापसीकरेंगे।अगरवापसीकरेंगेतोआखिरकब?यहसवालइनदिनोंभारतीयक्रिकेटमेंखूबचर्चामेंहै।धौनीकीवापसीपरकभीटीमकेकोचरविशास्त्रीअभीऔरइंतजारकरनेकीबातकहतेहैंतोकभीमुख्यचयनकर्ताएमएसकेप्रसादकहतेहैंकिवहधौनीसेआगेकासोचरहेहैं।

वहीं,जबबुधवारकोधौनीसेउनकेइसलंबेआरामपरजवाबमांगागयातोउन्होंनेकहा,"इसपरउनसेजनवरीतककुछमतपूछो।"इसकेअलावाधौनीअपनेइंटरनेशनलक्रिकेटकरियरसेजुड़ेदोऐतिहासिकलम्होंकाभीजिक्रकियाजोउन्हेंहमेशायादरहेंगे।अपनाआखिरीअंतरराष्ट्रीयमैच2019विश्वकपकेसेमीफाइनलमेंखेलाथा।इसकेबादसेवहकरीबचारमहीनेसेब्रेकपरहैं।

विश्वचैंपियनटीमकेस्वागतकोकभीनहींभूलसकता

विकेटकीपरबल्लेबाजधौनीनेकहा,"साल2007मेंविश्वटी-20और2011मेंविश्वकपजीतनेवालीउनकीटीमकाशानदारस्वागतजैसेक्षणउनकेदिलकेबेहदकरीबहैं।"दुनियाकेसबसेसफलकप्तानोंमेंसेएकरहेधौनीकीअगुआईमेंभारतनेदक्षिणअफ्रीकामेंपहलाटी-20विश्वकपजीताथा,जबकिइसकेबादउनकेनेतृत्वमेंअपनीसरजमींपर2011मेंवनडेविश्वकपअपनेनामकियाथा।

धौनीनेकहा,"मैंयहांदोघटनाओंकाजिक्रकरनाचाहूंगा।हम2007में(टी-20)विश्वकपकेबादभारतआएऔरहमनेखुलीबसमेंयात्राकीऔरहममरीनड्राइव(मुंबई)मेंखड़ेरहे।हरतरफजामलगाथाऔरलोगहमारेस्वागतकेलिएअपनीकारोंमेंआएथे।इसलिएमुझेहरकिसीकेचेहरेपरखुशीदेखकरअच्छालगाथा,क्योंकिदर्शकोंमेंकईऐसेलोगरहेहोंगे,जिनकीउड़ानछूटगईहोगी।वहशानदारस्वागतथा।"

दर्जनोंमैचछक्कालगाकरजितानेवालेमहेंद्रसिंहधौनीनेकहा,"दूसरापल2011विश्वकपफाइनलथा।मैचमेंजब15-20रनचाहिएथेतबवानखेड़ेस्टेडियममेंदर्शक'वंदेमातरम'काउद्घोषकररहेथे।येदोवाकयेहैं।मुझेलगताहैकिउन्हेंदोहरानाबहुतमुश्किलहोगा।येदोघटनाएंमेरेदिलकेकाफीकरीबहैं।"