धैर्य और साहस का परिचय दे रहे यूक्रेन में फंसे बच्चे

हरदोई:मेडिकलकीपढ़ाईकरनेयूक्रेनगएछात्र-छात्राओंकेस्वजनफोनपरउनकाहौसलाबढ़ारहेहैं।बच्चेभीधैर्यऔरसाहससेकामलेतेहुएनिकलनेकाप्रयासकररहेहैं।किसीतरहबसकाइंतजामकरकुछबच्चेरोमानियापहुंचगएहैंऔरवहांसेदिल्लीआनेकीतैयारीमेंहैं।शहरकेचीलपुरवानिवासीशिवमवर्मातोदिल्लीपहुंचभीगयाहै।वहींदोयूक्रेनमेंफंसेदोअन्यबच्चोंकीनामसामनेआएहैंऔरअबसंख्या21पहुंचगईहै।

यूक्रेनमेंफंसेबच्चोंकोनिकालनेकेलिएउठाएजारहेकदमोंमेंशहरकेचीलपुरवानिवासीमहेंद्रवर्माकापुत्रशिवमवर्मादेशकोआईपहलीफ्लाइटसेदिल्लीपहुंचगयाहै,जोकिवहींपरअपनीबहनकेघरपररुकगया।वहींएडीएमवंदनात्रिवेदीनेबतायाकिपूर्वमें19कीजोसूचीआईथीअबउसमेंदोऔरनामरविद्रप्रतापसिंहवबिलग्रामचुंगीस्थितराधानगरनिवासीप्रिसअग्निहोत्रीसामनेआएहैं।वहींदूसरीतरफदेखाजाएतोबच्चोंकेस्वजनकाकहनाहैकिसभीबच्चेधैर्यसेकामलेरहेहैं।संडीलानिवासीजयसक्सेनाकेपिताराजेशसक्सेनाऔरबिलग्रामक्षेत्रनिवासीअश्वनीकेपितारामगोपालनेबतायाकिउनकेबच्चोंने20अन्यसाथियोंकेसाथएकबसकीथी।बसशनिवारकीसुबहआईऔरउसपरसवारहोकरवहलोगराततकरोमानियासीमापरपहुंचगएथे,लेकिनउन्हेंवहांप्रवेशनहींमिलपायातोरातमेंबार्डरपरहीरुकेऔररविवारकीसुबहवहरोमानियापहुंचगएहैं।वहांसेफ्लाइटसेदिल्लीआएंगे।अभ्यंकबाजपेईकेपिताश्यामबाजपेईनेबतायाकिउनकापुत्रसातसाथियोंकेसाथबंकरमेंछिपाहै।वहींमहोलियानिवासीहिमांशूगुप्ताकेपिताप्रदीपगुप्तानेबतायाकिउनकापुत्रजहांपरहैवहांबमबारी

होरहीहैऔरइसलिएवहखुदकोमेट्रोस्टेशनपरसुरक्षितस्थानपरछिपाएहैं।सभीबच्चोंकेस्वजनउनकेसंपर्कमेंहैं।एडीएमवंदनात्रिवेदीनेबतायाकिदिल्लीऔरगाजियाबादमेंअधिकारियोंसेसंपर्ककियाजारहाऔरजोभीबच्चादिल्लीपहुंचरहाहैउसेहरदोईबुलानेकेइंतजामकिएगएहैं।किसीकेभीपरेशानहोनेकीजरूरतनहींहै।