डॉनल्ड ट्रंप का भारत दौरा : ये पांच डील जो बदल देंगे अमेरिका के साथ रिश्तों की तस्वीर

नईदिल्लीअमेरिकीराष्ट्रपतिडॉनल्डट्रंपमहजकुछघंटोंमेंभारतपहुंचरहेहैं।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीगुजरातकेअहमदाबादमेंउनकास्वागतकरेंगे।इसकेलिएमोटेरास्टेडियमतैयारहै।ट्रंप-मोदीदोस्तीकेइतरइसदौरेपरदोनोंदेशपांचऐसेडीलकरनेवालेहैं,जोभारत-अमेरिकासंबंधोंकोनएसिरेसेपरिभाषितकरेंगे।इनमेंघरेलूसुरक्षा,बौद्धिकसंपदाकानून,सिविलन्यूक्लियरडीलकेतहतरिएक्टरसमझौता,रक्षासौदाऔरसीमितट्रेडडीलशामिलहै।सीमितट्रेडडीलइसलिएकिडॉनल्डट्रंपभारतआनेसेपहलेहीकहचुकेहैंकिव्यापकसमझौतेकीगुंजाइशइसयात्रामेंकमहीहै।विदेशमंत्रालयकेप्रक्तारवीशकुमारनेपिछलेदिनोंकहाथाकिएशिया-प्रशांतक्षेत्रमेंआपसीसंबंधबढ़ानेऔरH-1Bवीजाकेमु्द्देभीउठेंगे।डॉनल्डट्रंपप्रशासननेवीजानियमकड़ेकरदिएहैं।इसकेबादभारतीययुवाओंकाअमेरिकाड्रीमआसाननहींरहगयाहै।अपनीपत्नीमेलानियाट्रंपकेसाथआरहेअमेरिकीराष्ट्रपतिभारीभरकमप्रतिनिधिमंडलभीलारहेहैं।36घंटेकेदौरेमेंट्रंपअहमदाबादसेआगराजाएंगे।वहांसेदिल्लीआएंगेजहांद्विपक्षीमुद्दोंपरबातहोगी।सामरिकमुद्देहावीरहनेकेआसारहैं।खासकरअमेरिका-तालिबानसमझौताऔरचीनकीपाकिस्तानकोमददकेबादपीएममोदीभारतकापक्षमजबूतीसेरखेंगे।वहींडॉनल्डट्रंपभारतीयपीएमसेअमेरिकीसामानपरइंपोर्टड्यूटीघटानेकीबातकहेंगे।हालांकिरक्षासौदाऐसाक्षेत्रहैजिसकीआड़मेंट्रंपबाकीमुद्दोंपरभारतीयरुखकोसमझनेकेलिएमजबूरहोंगे।ट्रंपकोपताहैकिभारतहथियारोंकाबड़ाखरीदारहैऔररूसइसमामलेमेंलीडलेसकताहै।खासतौरपरS-400मिसाइलसमझौतारूससेहोनेकेबादट्रंपबेचैनहोगएथे।हालांकिबादमेंअमेरिकाकेसाथभीएयरडिफेंसडीलहुईहै।बड़ीडिफेंसडीलकीतैयारीट्रंपकेदौरेसेठीकपहले24MH-60रोमियोहेलिकॉप्टरऔरछहAH-64EAPACHEहेलिकॉप्टरखरीदनेकीमंजूरीमोदीसरकारनेदीहै।ट्रंपकीयात्राकेदौरानइसपरमुहरलगजाएगी।डिफेंसडीलकादायराबढ़ानेकाऐलानभीइसदौरेमेंहोसकताहै।दोनोंदेशोंकेबीच2008मेंहुएऐतिहासिकसिविलन्यूक्लियरसमझौतेकेबादइसक्षेत्रमेंऔरसहयोगबढ़नेकीउम्मीदहै।रवीशकुमारनेबतायाकिवेस्टिंगहाउसऔरन्यूक्लियरपॉवरकॉरपोरेशनऑफइंडिया(NPCIL)मिलकरआंध्रप्रदेशकेकोव्वादामें1100मेगावाटकेछहरिएक्टरबनानेकीबातकररहेहैं।परमाणुसमझौतेकेतहतकिसीदुर्घटनाकीजिम्मेदारीपूरीतरहसप्लायरपरडालनेकेप्रावधानसेअमेरिकाथोड़ाचिंतितथा।हालांकिइसमेंऑपरेटरकीभूमिकाकोभीशामिलकियागया।इसकेअलावाइंश्योरेंसकवरदेनेकीबातभीकहीगईजिसकेबादअमेरिकीकंपनियोंनेउत्सुकतादिखाईहै।दोनोंदेशस्पेसटेक्नॉलजीपरभीबातचीतकरेंगे।भारतीयस्पेसएजेंसीइसरोनेअमेरिकाके209सैटेलाइटप्रक्षेपितकिएहैं।इसरोऔरअमेरिकीस्पेसएजेंसीनासामिलकरमाइक्रोवेवरिमोटसेंसिंगसैटेलाइटबनारहेहैं।इसमेंएलबैंडऔरएसबैंडकेरेडारहोंगे।नासाएलबैंडपरकामकरेगाऔरइसरोएसबैंडबनाएगी।येदुनियाकापहलादोबैंडवालासैटलाइटहै।