डीएम की आठ अफसरों को चेतावनी

मैनपुरी:डेंजरजोनमेंभीबच्चोंकेकुपोषणमेंसुधारनहोनेजिलाधिकारीप्रदीपकुमारनेमंगलवारकोअधिकारियोंकोनिशानेपरलेलिया।आठअधिकारियोंकोचेतावनीदीऔरदोकोप्रतिकूलप्रविष्ट।

मंगलवारकोविकासभवनमेंपोषणसमितिकीबैठकथी।जिलेमें58अधिकारियोंने112गांवगोदलेरखेहैं।इनगांवोंकोकुपोषणसेमुक्तकरोनकीजिम्मेदारीइनअधिकारियोंकीहै।प्रत्येकमाहगांवकानिरीक्षणकरउसकीआख्यामहीनेकीदसतारीखतकउपलब्धकराईजानीहै।लेकिनकुछअधिकारियोंद्वाराइसमेंलापरवाहीबरतीजारहीहै।समीक्षाकेदौरानपताचलाकिजिलेमेंअबतक14539कुपोषितबच्चोंमेंसेमात्र1148बच्चेहीकुपोषणकीश्रेणीसेबाहरआएहैं।जिसपरजिलाधिकारीप्रदीपकुमारनेमुख्यचिकित्साअधिकारी,उपजिलाअधिकारीकरहल,कुरावली,प्राचार्यजिलाशिक्षाएवंप्रशिक्षणसंस्थान,जिलासेवायोजनअधिकारी,जिलापंचायतराजअधिकारी,प्रभारीचिकित्साअधिकारीसगामईद्वाराजनवरीकीभ्रमणआख्यासमयसेउपलब्धनकरानेपरचेतावनीदीहै।इसकेअलावाबच्चोंकेस्वास्थ्यकेप्रतिलापरवाहीबरतनेपरजिलाप्रतिरक्षणअधिकारीवसीडीपीओजागीरकोप्रतिकूलप्रविष्टिदेनेकेनिर्देशदिएहैं।कार्यक्रमकासहीसुपरविजननकरनेपरजिलाकार्यक्रमअधिकारीकोचेतावनीजारीकरनेकेनिर्देशदिएहैं।

डीएमनेकहाकिसभीसीडीपीओअपनेअधीनआंगनबाड़ीकेंद्रोंकानिरीक्षणकरेंऔरक्षेत्रकेकुपोषितबच्चोंकेपरिवारसेमिलकरउन्हेंबच्चोंकीसेहतसुधारनेकीजानकारीदें।जनपदस्तरीयअधिकारियोंसेकहाकिवहजबभीभ्रमणपरजाएंतोक्षेत्रकीआंगनबाड़ीकार्यकर्तावसीडीपीओकेकार्योंकेबारेमेंमेंभीजानकारीजुटाएं।

एकभीबच्चानहींभेजापुनर्वासकेंद्र

जनवरीमेंसगामई,किशनी,कुरावली,घिरोर,जागीरस्वास्थ्यकेंद्रोंसेकोईभीबच्चाजिलाअस्पतालस्थितपोषणपुनर्वासकेंद्रमेंभर्तीनहींकरायागया।जिलाधिकारीप्रदीपकुमारनेसाफकहाकिअगरअगलेमाहबैठककेदौरानस्थितिमेंसुधारनहींहुआतोकार्रवाईकेलिएतैयाररहें।बैठकमेंसीडीओविजयकुमारगुप्ता,सीएमओडॉ.एकेगुप्ता,सीवीओडॉ.योगेशसारस्वत,जिलाकार्यक्रमअधिकारीअर¨वदकुमारमौजूदरहे।

राज्यपोषणमिशनकेअंतर्गतबालविकाससेवाएवंपुष्टाहारविभागद्वाराजिलेकेविभिन्नग्रामीणक्षेत्रोंमेंशून्यसेपांचवर्षतककेबच्चोंकाप्रतिमाहस्वास्थ्यपरीक्षणकरायाजाताहै।जनवरी2018मेंजिलेके10परियोजनाक्षेत्रोंमें2,12,876बच्चोंकीजांचकराईगई।अलग-अलगमानकोंकेआधारपरकराईगईजांचमें51,518मासूमअतिकुपोषित(लालश्रेणी)में¨जदगीसेजिद्दोजेहदकररहेहैं।विशेषप्रकारकेपुष्टाहारऔरउपचारकेबादइनमेंसेकेवल1148बच्चोंकीहीसेहतमेंसुधारहोसकाहै।

आंकडे़बेहदचौंकानेवालेहैं।आंगनबाड़ीकेंद्रोंऔरसामुदायिकतथाप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रोंपर2,03,249बच्चोंकावजनकरायागया।इनमेंसेज्यादातरबच्चोंकावजननिर्धारितपैमानेसेकममिलेहैं।लगातारगिररहीबच्चोंकीसेहतनेस्वास्थ्यविभागकीमुश्किलेंबढ़ादीहैं।डेंजरजोनमेंपहुंचेइनबच्चोंकोबेहदगंभीरहालतहोनेपरजिलाअस्पतालमेंसंचालितपोषणपुनर्वासकेंद्रपरभर्तीकरायाजाताहै।

सबसेज्यादाकरहलऔरबेवरमेंहैंकुपोषित

जिलेमेंकुलदसपरियोजनाकेंद्रोंकासंचालनकियाजारहाहै।विभागीयसर्वेमेंसबसेज्यादा8096कुपोषितबच्चेकरहलकेंद्रमेंमिलेहैं।इसकेबाददूसरेस्थानपर6276कुपोषितबच्चोंकेसाथबेवरकेंद्रदूसरेस्थानपरहै।इनदोनोंहीकेंद्रोंमेंडेंजरजोनमेंजूझरहेबच्चोंकेसुधरीकृतकीजिम्मेदारीसंबंधितसीडीपीओ,आंगनबाड़ीकार्यकर्ताऔरसीएचसीतथापीएचसीप्रभारियोंपरहै।लेकिन,लापरवाहीकीवजहसेअतिकुपोषितबच्चोंकीसंख्यामेंलगातारइजाफाहोताजारहाहै।