डेंगू में लापरवाही बन सकती है जानलेवा : डा. अखिलेश

जागरणसंवाददाता,रामपुरबेलौली(मऊ):अक्टूबरसेअबतकसीएचसीफतहपुरमंडावपरडेढ़दर्जनसेअधिकडेंगूकेमरीजमिलचुकेहैं।सभीलोगबाहरसेआएहुएथे।शनिवारकोभीडेंगूसेपीड़ित18वर्षीयमरीजगौरवयादवमिला।वहइलाहाबादमेंरहकरपढ़ाईकरताहै।चिकित्साप्रभारीडा.अखिलेशयादवनेबतायाकिइलाहाबाद,लखनऊबनारसआदिशहरोंसेआरहेलोगोंकोविशेषसावधानीबरतनेकीजरूरतहै।लक्षणदिखाईदेनेपरलापरवाहीनहींबरतनीचाहिएअन्यथायहजानलेवासाबितहोसकताहै।

ऐसेहोताहैडेंगूबुखार

डेंगूवायरससेसंक्रमितमच्छरकेकाटनेकेलगभग3-5दिनोंमेंव्यक्तिमेंडेंगूबुखारकेलक्षणप्रकटहोसकतेहैं।यहसंक्रामककाल3-10दिनोंतकभीहोसकताहै।तीनतरहकेडेंगूमेंसाधारण(क्लासिकलडेंगू),डेंगूहमरेडिकबुखार(डीएचएफ)औरडेंगूशाकसिड्रोम(डीएसएस)शामिलहैं।सामान्यलक्षणदिखतेहीचिकित्सीयपरामर्शवउपचारशुरूकरदेनाचाहिए।स्थितिबदलनेपरप्लेटलेट्सचढ़ाएजाएंगेवजोखिमभीबढ़जाएगा।

करेंपेयपदार्थकासेवन

इससेपीड़ितमरीजोंकोमसालेदारवतले-भुनेठोसपदार्थोंसेबचनाचाहिए।उन्हेंचोटसेभीबचनाचाहिएक्योंकिचोटलगनेपरप्लेटलेट्सकमहोनेकीवजहसेखूनकाबहावरुकतानहींहै।मरीजकोपेयपदार्थकेअलावापपीतेकेपत्तोंकाजूस,कीवी,नारियलकापानी,बकरीकादूधआदिपीनालाभदायकरहताहै।येबरतेंसावधानियां

इससेबचावकेलिएलंबेसमयतककिसीबर्तनमेंपानीभरकरनरखें।इससेमच्छरपनपनेकाखतरारहताहै।पानीकोहमेशाढंककररखनेकेअलावाहरदिनबदलतेरहनाचाहिए।कूलरकापानीहरदिनबदलनाचाहिए।मच्छरोंकाप्रवेशरोकनेकेलिएखिड़कीऔरदरवाजेपरजालीलगानाउचितहै।पूरीबांहकेकपड़ेपहनेंयाफिरशरीरकोजितनाहोसकेढंककररखें।सोतेसमयमच्छरदानीकाप्रयोगकरनाचाहिए।