डेढ साल पहले सीवरेज के लिए खोदी सड़क की नही ली सुध

जागरणसंवाददाता,यमुनानगर:फर्कपुरकेनानकनगरमेंडेढसालपहलेसीवरेजलाइनदबानेकेलिएइंटरलोकिगटाइलोंसेबनीसड़कउखाड़ीगई।अबतकइसकीमरम्मतनहींकराईगई।खामियाजाकॉलोनीवासियोंकोभुगतनापड़रहाहै।उनकाआरोपहैकिइसबारेनगरनिगमकार्यालय,पार्षदवविधायककोकईबारशिकायतकरचुकेहैं।इसकेबावजूदसमस्याज्योंकीत्योंहै।आलमयहहैकिहल्कीबारिशमेंगलीमेंकीचड़जमाहोजाताहै।जिसमेंसेगुजरनामुश्किलहोजाताहै।बच्चोंकोस्कूलजानेमेंपरेशानीहोतीहै।दोपहियावाहनोंकेफिसलनेकेकारणदुर्घटनाहोनेकाअंदेशारहताहै।फोटो:21

कॉलोनीवासीकमलेशप्रसादकाकहनाहैकिचुनावकेसमयसभीनेताघर-घरचक्करकाटतेहैं।समस्याओंकाहलकरानेकाआश्वासनदेतेहैं,लेकिनचुनावहोनेकेबादसिवायआश्वासनकेकुछनहींमिलता।इससेमतदातास्वयंकोठगासामहसूसकरतेहैं।सीवरेजडालनेकेलिएटाइलेंउखाड़नेसेपहलेमरम्मतकिएजानेकाप्रबंधनकरनाचाहिएथा।फोटो:22

नीटूनेकहाकिबारिशकेकारणकीचड़होनेसेबच्चेस्कूलनहींजापाते।मजबूरनअभिभावकबच्चोंकोगोदमेंउठाकरस्कूलतकछोड़नेजातेहैं।छुट्टीकेसमयबारिशहोनेपरसमस्याज्यादाबढ़जातीहै।अभिभावकोंकोबच्चोंकोघरलानेकीचितारहतीहै।कईबारस्कूलजातेसमयकीचड़मेंधंसनेसेबच्चोंकीवर्दीगंदीहोजातीहै।उन्हेंवर्दीबदलनेकेलिएघरलौटनापड़ताहै।फोटो:22ए

नीलकंठनेकहाकिकॉलोनीनगरनिगमकीहदूदमेंहै,लेकिनसुविधाएंनाममात्रकी।बारिशकेसमयकोईरिश्तेदारघरआजाए,तोशर्मिंदगीमहसूसहोतीहै।कॉलोनीवासियोंकोतोहालतकेबारेमेंजानकारीहै,बाहरसेआनेवालेअकसरफिसलजातेहैंयाकीचड़मेंधंसजातेहैं।जनप्रतिनिधियोंवसंबंधितअधिकारियोंकोसमस्याकाशीघ्रसमाधानकरनाचाहिए,नहींतोकॉलोनीवासियोंमेंरोषबढ़ताजारहाहै।हलनहींहोनेपरवहउच्चाधिकारियोंकोशिकायतकरेंगे।