डाक्टर बनना चाहती है कृतिका

जेएनएन,बिजनौर।शहरकोतवालीक्षेत्रकेगांवगंजनिवासीकृतिकाअग्रवालशहरकेडीडीपीएसमें11वींकीछात्राहै।16वर्षीयछात्रास्कूलमेंसेकंडटॉपररहीहै।पिताआशुतोषअग्रवालकीगंजमेंकिरानाकीदुकानहैं।मांरश्मिअग्रवालघरेलूमहिलाहैं।कृतिकानेकहाकिउनकासपनाडॉक्टरबननाहै।वहबायोकीछात्राहैं।दसवींमें97.2प्रतिशतअंकप्राप्तकिएथे।एकदिनकेलिएकोतवालबनकरउन्हेंपुलिसकोकरीबसेजाननेकामौकामिला।यहसरकारकीअच्छीपहलहै।एकदिनकेलिएकोतवालबननेसेउनकाउत्साहबढ़ाहै।यहमहिलासशक्तिकरणकेलिएकाफीअच्छाहै।मिशनशक्तिसेपहलेसेअधिकअधिकारमिलेहैं।हरकिसीकीसमस्यारखनेकाआसानीसेएकपटलमिलाहै।इससेमहिलाओंमेंविश्वासबढ़ेगा।

--------मिशनशक्तिकेतहतहुआचयन:एसपी

एसपीडाक्टरधर्मवीरसिंहनेबतायाकियूपीसरकारकीओरसेचलेरहेअभियानमिशनशक्तिकेएककदमकेतहतबालिकाकोएकदिनकेलिएकोतवालबनायागयाहै।सीओऔरकोतवालकोएकबालिकाकाचयनकरनेकीजिम्मेदारीसौंपीथी।वहपहलेभीपुलिसकीओरसेआयोजितमिशनशक्तिकार्यक्रममेंशामिलहोतीरहीहैं।इसलिएउनकीकार्यशैलीऔरएक्टिविटीदेखकरउन्हेंएकदिनकाकोतवालबनायागया।शासनकीमंशाकेतहतइसकीशुरुआतकीगई।इससेपुलिसऔरजनताकीबीचकीखाईपटेगी।पुलिसकेप्रतिमहिलाओंमेंविश्वासभीबढ़ेगा।बच्चियोंऔरमहिलाओंमेंसुरक्षाकाभावभीपनपेगा।साथहीआगेबढ़नेकाहौंसलाभीपैदाहोगा।छात्राओंऔरमहिलाओंमेंजागरूकताबढ़ेगी।कृतिकानेमहिलाओंकीसमस्याकोगंभीरतासेसुनाहै।