Covid-19 से मुकाबले को कतार में हैं 150 से अधिक वैक्सीन, अंतिम चरण में पहुंची केवल तीन

नईदिल्‍ली(जेएनएन)।किसीभीमहामारीकोरोकनेकेलिए वैक्सीनबनानाआसानकामनहींहै।यहलंबीऔरचरणबद्धप्रक्रियाहै।कोरोना महामारीकेप्रकोपकोदेखतेहुएदुनियाके कईदेशवैक्सीनबनानेमेंजुटेहैं।आमतौर परकिसीवैक्सीनपरट्रायललंबेसमय तकचलताहैऔरइसकेविकसितहोनेमें वर्षोंलगसकतेहैं।पूर्वमेंकईमहामारियों केदौरानऐसेउदाहरणहैं,जबवैक्सीन बननेमेंसालोंकावक्तलगा।हालांकि कोरोनामहामारीमेंबहुतजल्दवैक्सीन केविकसितहोनेकीउम्मीदकीजारही है।स्टेटिस्टाकेअनुसार,दुनियामेंप्रमुख रूपसे150सेअधिकवैक्सीनपरकाम चलरहाहै।इनमेंसेअधिकतरवैक्सीन अभीप्री-क्लीनिकलट्रायलतकहीपहुंचीहै।बहुतकमवैक्सीनऐसीहैं,जोदूसरे यातीसरेचरणमेंहैं।आइएजानतेहैंकि कोरोनावैक्सीनकीदिशामेंदुनियाकितना करीबपहुंचीहै।

ऐसेसमझिएवैक्सीनट्रायलकेविभिन्नचरणोंको

कईट्रायलप्री-क्लीनिकलचरणमेंहैं।जहां प्रतिरक्षाप्रणालीपरहोनेवालेप्रभावकोजांचनेकेलिएवैक्सीनकीखुराकपशुओंकोदीजातीहै। 19वैक्सीनट्रायलकेपहलेचरणमेंहैं।इसमेंलोगोंकेछोटेसमूहकोवैक्सीनकीखुराकदीजातीहै औरपतालगायाजाताहैकियहसुरक्षितहैया नहीं।11वैक्सीनदूसरेचरणमेंहैं,जिसमेंसैंकड़ों लोगोंकीसुरक्षाकोध्यानमेंरखनेकेसाथखुराक केप्रभावकामूल्यांकनकियाजाताहै।आखिरमें तीसराचरणहोताहै,जिससेतीनवैक्सीनगुजररही हैं।इसमेंहजारोंलोगोंकोशामिलकियाजाताहै। इसमेंआखिरीबारसुरक्षासुनिश्चितकीजातीहै औरसाइडइफेक्ट्सकाभीपतालगायाजाताहै। ऑक्सफोर्डवैक्सीनकेट्रायलमें70फीसदलोगों नेसिरदर्दयाबुखारकीशिकायतकी।वैज्ञानिककहतेहैकिपेरासिटामोलसेयहठीकहोसकताहै।

सर्वाधिकवैक्सीनप्रीक्लीनिकलट्रायलमें

कोरोनावायरससेदुनियामेंसंक्रमितोंकीसंख्याडेढ़करोड़केआंकड़ेकोपारकरगईहै।ऐसेमेंवैक्सीन काजल्दसेजल्दआनाबहुतजरूरीहै।ऑक्सफोर्डविश्वविद्यालयकीवैक्सीनके ट्रायलमें1,077लोगोंकोशामिल कियागयाहै।जिसमेंवैक्सीन नेमजबूतप्रतिरक्षाप्रतिक्रियाको सफलतापूर्वकबढ़ायाहै।मेडिकल जर्नललैंसेटमेंप्रकाशितप्रथमचरण केपरिणामकाफीआशाजनकहैं।यहउम्मीदजगाते हैंकिमहामारीकोसमाप्तकरनेकेलिएजल्दहीहमेंसुरक्षित,प्रभावीऔरसुलभवैक्सीनउपलब्धहोगी। ऑक्सफोर्डने2अरबवैक्सीनब्रिटेन,अमेरिकाऔर यूरोपकेअन्यसहयोगियोंकोदेनेकीप्रतिबद्धताजताई है।इसकेसाथहीसीरमइंस्टीट्यूटऑफइंडियाऔर गैवीकेसाथभीसमझौताकियागया है।इसट्रायलमेंवैक्सीनने14दिनोंमेंटी-सेलप्रतिक्रियाहासिलकी और28दिनोंमेंएंटीबॉडीप्रतिक्रिया कोभीकाफीबढ़ायाहै।र्गािजयनकेअनुसार,विश्वस्वास्थ्यसंगठन (डब्ल्यूएचओ)नेदुनियामें140प्रमुखप्रीक्लीनिकल ट्रायलकोअनुमतिदीहै।इसकेअलावाकईवैक्सीन पहलेसेहीट्रायलकेउन्नतचरणमेंहैं।