चक दे इंडिया देखकर उठाई हाकी, अब नीदरलैंड के खिलाफ पहला मैच खेलेगी मंजू

नंदकिशोरभारद्वाज,सोनीपत:

वर्ष2015मेंफिल्मचकदेइंडियामेंअभिनेताशाहरुखखानकेडायलागनेयुवतीमंजूकेमनमेंऐसाजोशभराकिउसनेहाकीखेलनेकाफैसलाकिया,लेकिनपरिवारकीआर्थिकहालतबेटीकोकोचिगदिलानेकीनहींथी।पड़ोसमेंरहनेवालीहाकीखिलाड़ीनेउसेकोचप्रीतमसिवाचसेमिलवाया।प्रीतमकेपासकोचिगलेतेहुएकईसालकीलगनऔरमेहनतसेआजमंजूभारतीयजूनियरहाकीटीममेंजगहबनानेमेंसफलहुई।वहभारतीयटीमकेसाथ19से26जूनतकआयरलैंडकेडबलिनमेंहोनेवालीफाइवनेशनहाकीटूर्नामेंटमेंखेलेगी।वहनीदरलैंडकेखिलाफमैचमेंडेब्यूकरेगी।भारतीयजूनियरहाकीटीममेंचयनितमिडफील्डरमंजूचौरसियानेबतायाकि30-35सालपहलेउनकेपितावकीलभगतरोजी-रोटीकीतलाशमेंपरिवारकेसाथबिहारकेगोपालगंजजिलेसेसोनीपतआकरबसगएथे।पिताबहालगढ़स्थितएकफैक्ट्रीमेंदिहाड़ी-मजदूरीकरनौहजाररुपयेवेतनमेंपरिवारकागुजाराचलारहेहैं।उसकाएकभाईअमितग्राफिक्सडिजानइरबनकरकमानेलगाहैऔरघरचलानेमेंपिताकाहाथबंटाताहै।अमितकीशादीहोचुकीहैऔरउसकाएकबच्चाभीहै।दूसराभाईसुमितसहायकअकाउंटेंटहै।अभीउन्होंनेबड़ीमुश्किलसेलोनलेकरब्रह्मनगरमेंदोकमरोंकाएकमकानलियाहै।एककमरेमेंभाईकापरिवारऔरएककमरेवहमातामुनावती,पितावकीलभगतऔरभाईसुमितकेसाथरहतीहै।बदलगईजिदगी

जून,2002मेंजन्मीमंजूनेबतायाकिजबवहछठीकक्षामेंथी,तभीउसनेहाकीपरआधारितफिल्मचकदेइंडियादेखी।शाहरुखखानकेआपकीजिदगीके70मिनटडायलागनेऐसाजोशभराकिबाहरआकरउसनेभीमाता-पितासेहाकीखेलनेकीइच्छाजताईलेकिनपिताउसेकमआयकेचलतेउसेकोचिगनहींदिलासकतेथे।तबपड़ोसमेंरहनेवालीहाकीखिलाड़ीरिकीनेउसेनिश्शुल्ककोचिगदेनेवालीहाकीकोचप्रीतमसिवाचसेमिलवाया।प्रीतमसभीलड़कियोंकोनिश्शुल्ककोचिगदेतीहैं।कड़ीमेहनत,लगनऔरप्रीतमकीकोचिगसेमंजूकेखेलमेंलगातारनिखारहोतागया।उसनेकईटूर्नामेंटमेंबेहतरप्रदर्शनकरतेहुएपहलास्थानहासिलकिया।मंजूनेबतायाकिउसकीमांखेलनेकेलिएसबसेअधिकप्रोत्साहितकरतीहैं।कोचनेकीमदद

मंजूनेबतायाकिकोचप्रीतमसिवाचअपनीअकादमीमेंसभीलड़कियोंकोनिश्शुल्ककोचिगदेतीहैं।वहलड़कियोंकोडाइटकेसाथहीटूर्नामेंटमेंआने-जानेकीव्यवस्थाकरनेमेंभीमददकरतीहैं।इसकेसाथउन्होंनेजूते,हाकीस्टिकवअन्यसामानदेकरकईबारउसकीमददकीहै।सभीखिलाड़ीकोईसमस्याहोबेझिझकप्रीतमकोअपनीसमस्याएंबतातीहैं।प्रीतमअपनेउनकासमाधानकरातीहैं।दर्जनभरसेअधिकखिलाड़ीदेचुकीहैंप्रीतम

द्रोणाचार्यअवार्डीकोचप्रीतमसिवाचअबदेशकीसीनियरऔरजूनियरटीमकोदर्जनभरखिलाड़ीदेचुकीहैं।इनमेंसेअधिकतरलड़कियांऐसेपरिवारोंसेहैं,जिनकीआर्थिकहालतकमजोरहोतीहैलेकिनइनखिलाड़ियोंमेंदेशकेलिएकुछकरनेकाजज्बाहोताहै।भारतीयहाकीटीमकीस्टारखिलाड़ीनेहागोयल,निशावारसी,शर्मिला,ज्योतिप्रीतमसिवाचकीअकादमीमेंकोचिगलेकरआगेबढ़ीहैं।इसकेअलावामहिमा,प्रीती,श्वेता,किरणदहिया,प्रियासरोहा,मोनिका,ज्योतिगुप्तासमेतअन्यकईलड़कियांदेशकानामरोशनकररहीहैं।प्रीतमनेबतायाकिउसकेपास300लड़कियांकोचिगलेरहीहैं।मंजूकीउपलब्धियां

मंजूचौरसियानेवर्ष2015मेंहाकीखेलनाशुरूकियाथा।इसकेबादउसनेपीछेमुड़करपीछेनहींदेखा।उसनेखेलोइंडियागेम्स,जूनियरनेशनल्सचैंपियनशिपऔरसबजूनियरनेशनल्सचैंपियनशिपमेंगोल्डमेडलहासिलकिए।अबमंजूभारतीयजूनियरहाकीटीमकाहिस्साहैं।वहमिडफील्डरकेरूपमेंअपनीजगहपक्कीकरचुकीहैं।अभीवहबेंगलुरुस्थितकैंपमेंहैऔरटीमकेसाथआयरलैंडमेंफाइवनेशनटूर्नामेंटमेंनीदरलैंडकेखिलाफअपनापहलामैचखेलेगी।