Chardham Yatra 2022: आस्था की यात्रा में परंपराओं का सम्मान, पितरों की तस्वीर के साथ चारधाम की 'तिन सीटिया' यात्रा करते हैं श्रद्धालु

दुर्गानौटियाल,ऋषिकेश:सनातनीसंस्कृतिमेंपितरोंकास्थानसर्वोच्चमानागयाहै।पितरोंकोतीर्थयात्राकरानेऔरतीर्थोंमेंउनकेपिंडदानकाभीशास्त्रोंमेंबड़ामहत्वहै।इसलिएआजभीसैकड़ोंश्रद्धालुअपनेपितरोंकेसाथचारधामकीयात्राकरतेहैं।

इसकेलिएबसवट्रेनमेंस्वयंकेअलावादोखालीसीटभीबुककराईजातीहैं।आमबोलचालमेंइसे'तीनसीटिया'यात्राकहाजाताहै।इनखालीसीटपरपितरोंकीतस्वीरअथवानिशानीकोआदरएवंसम्मानकेसाथरखकरश्रद्धालुचारधामकीयात्रापरनिकलतेहैं।

इनदिनोंचारधामयात्राअपनेचरमपरहैऔरदेशकेकोने-कोनेसेहजारोंश्रद्धालुदर्शनोंकोपहुंचरहेहैं।इसआध्यात्मिकयात्रामेंविभिन्नप्रांतोंकीसंस्कृतिएवंपरंपराओंकेरंगभीदेखनेकोमिलतेहैं।ऐसीहीएकपरंपराबिहार,उत्तरप्रदेशवमध्यप्रदेशसेआनेवालेकुछश्रद्धालुआजभीनिभातेआरहेहैं,जोपितरोंकेप्रतिउनकीअटूटआस्थाकाअनुपमउदाहरणहै।

इनप्रांतोंसेआनेवालेकईश्रद्धालुअपनेसाथपितरोंकीनिशानी(तस्वीर,छड़ी,कंबल,गमछा,टोपी,धोती-कुर्ताआदि)कोभीचारधामकीयात्रापरलातेहैं।यहनिशानियांबकायदापितरोंकेनामआरक्षितसीटपरसम्मानकेसाथविराजमानहोकरचारधामपहुंचतीहैं।

चारधामयात्राकेप्रवेशद्वारऋषिकेशपहुंचनेकेबादयहयात्रीसंयुक्तरोटेशन,रोडवेजयानिजीपरिवहनसेवाओंसेचारधामयात्राकरतेहैं।पितरों(दिवंगतमाता-पिता)कोचारधामकीयात्राकरानेकेलिएयहश्रद्धालुस्वयंकेअलावादोऔरसीटबुककरातेहैं।

इसकेलिएबुकिंगक्लर्कयाट्रैवलएजेंटको'तिनसीटिया'(एकसीटस्वयंऔरदोसीटपितरोंकीनिशानीरखनेकेलिए)बुकिंगकीजानकारीदीजातीहै।इसकेबादऐसेश्रद्धालुओंको'तिनसीटिया'यात्राकेलिएबुकिंगदेदीजातीहैऔरयात्रीआस्थापूर्वकपितरोंकोचारधामकेदर्शनकराकरतीर्थमेंउनकापिंडदानकरतेहैं।

दादाकीनिशानीसाथलाएहैंरामखिलावन

उत्तरप्रदेशकेसुल्तानपुरनिवासीरामखिलावननेबतायाकिउनकेदादाअपनेजीवनमेंकभीचारधामयात्रानहींकरपाए।इसबारगांवकेअन्ययात्रियोंकेसाथउन्हेंभीचारधामआनेकासौभाग्यमिलातोदादा-दादीकीतस्वीरवछड़ीभीसाथलाएहैं।

बतायाकियात्राकेलिएउन्होंनेअपनेट्रैवलएजेंटसे'तीनसीटिया'बुकिंगकराईहै।गाजीपुर(उत्तरप्रदेश)निवासी84वर्षीयविमलादेवीभीगांवके33यात्रियोंकेसाथचारधामयात्रापरहैं।

वहअपनेपतिस्व.लालबहादुरसिंहकीछड़ीवअन्यनिशानियांसाथलेकरआईहैं।विमलादेवीकेपतिकानिधन15वर्षपूर्वहोगयाथाऔरउनकीचारधामयात्राकीइच्छाअधूरीरहगईथी,जिसेअबविमलादेवीपूरीकररहीहैं।

ट्रैवल्ससंचालकपंकजशर्मानेबतायाकि'तीनसीटिया'यात्राकेलिएइसबारबड़ीसंख्यामेंउत्तरप्रदेश,मध्यप्रदेशवबिहारसेश्रद्धालुपहुंचरहेहैं।उनकीभावनाओंकापूरासम्मानकियाजाएगा।