Cement Price Hiked: आसमान पहुंचा सीमेंट व सरिया का मूल्य, महंगा हुआ अपने आशियाने का सपना

गोरखपुर,जागरणसंवाददाता।निवालेकेसाथ-साथपढ़ाईपरभीमहंगाईकीमारसेआमआदमीकोघरचलानामुश्किलहोगयाहै।बच्चोंकेआने-जानेकेलिएस्कूलबसकाशुल्कहोयाफिरड्रेससभीकेअधिकदामचुकानेपड़रहेहैं।स्टेशनरीकीकीमतोंमेंभी20से25प्रतिशतकीवृद्धिहुईहै।कापी-किताब,पेन,पेंसिलजैसीआवश्यकवस्तुओंकेदामपढ़नेसेअभिभावकोंकीपरेशानीबढ़गईहै।सबसेज्यादामूल्यवृद्धिबिल्डिंगमैटेरियलमेंहुईहै।इसमेंबीससेलेकरतीसप्रतिशततककीबढ़ोत्तरीहुईहै।इससेमकानबनवानामहंगाहोगयाहै।

इतनामहंगाहोगयासीमेंट,सरिया,ईंटवमोरंग

आमआदमीकेलिएअबआशियानाबनानाभीमहंगाहोगयाहै।सीमेंट,सरिया,ईंट,गिट्टीवलालबालूसमेतअन्यनिर्माणसामग्रीकेदामबढ़नेसेनिर्माणकीलागत20से30प्रतिशततकबढ़गईहै।निर्माणसामग्रीकेदामआसमानछूनेसेकिचनकेसाथमकानकेलिएरखाबजटभीकमपड़नेलगाहै।तारामंडलनिवासीसंदीपकुमारबतातेहैंकितीनमहीनेपहलेउन्होंनेनिर्माणकार्यशुरूकियाथाऔरयहआसलगाईथीकिउनकाआशियानाउनकेबजटमेंबनकरतैयारहोजाएगा।लेकिन,वहबढ़तीमहंगाईसेमायूसहोगएहैं।उनकाकहनाहैकिलगरहाकामरोकनापड़ेगा।जबपैसेकीव्यवस्थाहोजाएगीतोफिरनिर्माणशुरूकराएंगे।इसीतरहकईलोगहैंजोहालफिलहालकेलिएमकानबनवानेकाइरादाहीबदलचुकेहैं।सीमेंट,सरिया,बालू,मोरंग,गिट्टीकेसाथईंटकीकीमतेंकाफीबढ़गईहैं।निर्माणसामग्रीकीकीमतोंमेंलगातारइजाफाहोरहाहै।जोबजटलेकरकामशुरूकरायाथा,अबउससेज्यादाखर्चहोरहाहै।

बालूकीकीमतभीआसमानपर

तारामंडलस्थितनिर्माणसामग्रीविक्रेताअमितजायसवालबतातेहैंकिजोसफेदबालूदोमाहपूर्व20रुपयेफीटथा,जोकिअब22रुपयेहोगयाहै।सीमेंटकीकीमतोंमें50रुपयेप्रतिबोरीतककाइजाफाहुआहै।मोरंगकीदरें75रुपयेप्रतिफीटहै।जबकिपिछलेसाल65से70रुपयेप्रतिफीटकेभावथा।गिट्टीकीकीमतोंपरनजरडालेंतोवह75सेबढ़कर85रुपयेप्रतिफीटपरपहुंचगयाहै।सबसेअधिकतेजीसरियामेंदेखनेकोमिलरहीहै।55सौरुपयेसेबढ़कर77सौरुपयेप्रतिक्विंटलकेकरीबपहुंचगयाहै।ईंटकीकीमतोंमेंभीवृद्धिहुईहै।पिछलेसीजनमें14हजाररुपयेप्रतिट्रालीबिकनेवालीईंटकीकीमत17से18हजाररुपयेतकपहुंचगईहै।

कीमतोंमेंबढ़ोतरी

बालू18रु.(प्रतिफीट)22

गिट्टी75रु.(प्रतिफीट)85

सरिया6000(प्रतिक्वि.)7700

मोरंग78रु.(प्रतिफीट)90

ईंट14000(प्रतिट्राली)17000

सीमेंट400रु.(प्रतिबोरी)470

स्टेशनरीभीहुईमहंगी

स्टेशनरीविक्रेताअनिलकुमारचौरसियाकेमुताबिकइसवर्षस्टेशनरीकेदामतेजीसेबढ़ेंहैं।कापियां20से25प्रतिशतबढ़ीहैं।किताबेंभी10प्रतिशतसेज्यादाबढ़गए।जोपेन10रुपयेमेंमिलताथावह20रुपयेकामिलरहाहै।इसीतरहपेंसिलभीएकसेदोरुपयेमहंगाहोगयाहै।चुनावकेबादसेलगातारपेट्रोलवडीजलकीकीमतोंमेंबढ़ोतरीकासीधाअसरस्कूल-कालेजोंमेंपढ़नेवालेछात्रोंपरपड़नाशुरूहोगयाहै।जोछात्रबससेस्कूलजातेहैंउन्हेंपहलेकीअपेक्षावाहनोंकाशुल्कअधिकचुकानापड़रहाहै।शहरकेगोरखनाथनिवासीप्रियंकापांडेयनेबतायाकिबच्चोंकीस्कूलफीसमेंपांचसेदसप्रतिशतकीवृद्धिहुईहै।अभीतकजिसस्कूलवैनकाकिरायाआठसौरुपयेलगताथा।अबएकहजाररुपयेदेनेपड़रहेहैं।किताबोंवस्टेशनरीकाबजटभीपांचसौसेएकहजाररुपयेतकबढ़गएहैं।