चढ़ने लगी होली की मादकता, हर ओर धमाल

जागरणसंवाददाता,मऊ:शहरकेबाजारोंमेंबढ़ीरौनक,हंसी-मजाकएवंगांवोंमेंसारा..रा..रा..कीधुनहोलीकासंकेतदेनेलगीहै।होलीकीमादकतामेंहरकोईमदमस्तनजरआरहाहै।हरओरधमालकेसंकेतमिलरहेहैं।हालांकिकोरोनाकेबढ़रहेसंक्रमणभलेहीलोगोंकोडरारहेहोंलेकिनलोगइसेतौबाबोलनेवालेहैं।होलीकेदोदिनपूर्वसेहीबाजारोंमेंखरीदारीबढ़गईहै।बच्चेअपनेअभिभावकोंकेसाथपिचकारीवरंगखरीदनेकेलिएदुकानोंपरआनेलगेहैं।गृहणियांभीहोलीपरगुझियाबनानेकेलिएखोवावचीनीकीखरीदमेंलगीहैं।बाजारमेंचहल-पहलबढ़गईहै।

बाजारोंमेंजगह-जगहअबीर,गुलालएवंपिचकारियोंकीखूबबिक्रीहोनीशुरूहोगईहै।साथहीहोलीकेहुड़दंगकोदेखतेहुएप्रशासनिकव्यवस्थाभीचुस्तदेखीजारहीहै।होलीपर्वकोलेकरलोगोंमेंजबरदस्तउत्साहहै।होलीकेफाल्गुनीबयारमेंक्षेत्रकेसभीबाजारवचट्टीचौराहेरंगगएहैं।एकतरफजहांआकर्षकएवंरंग-बिरंगेपिचकारीसेबाजारपटगयाहै।

दूसरीतरफमेहमानोंकेआवभगतकेलिएखाद्यसामग्रीकीदुकानेंभीसजगईहै।चिप्स,पापड़वरंग-बिरंगेनएडिजाइनोंमेंरंगीनचिप्सकीबिक्रीतेजहै।त्योहारकेदिनकरीबआनेकेसाथबाजारोंमेंचहल-पहलतेजहोगईहै।घरोंमेंभीपर्वमनानेकीतैयारियांजोरोंपरहै।नगरसमेतगांव-गिरावंकेबाजारोंमेंहोलीपर्वसेजुड़ीसामानोंकीदुकानेंसजगईहै।टोपी,कार्टूनीचेहरेभीबाजारमेंआकर्षणकाकेंद्रबनेहुएहैं।यहांबच्चोंकीभीड़ज्यादादेखीजारहीहै।मजेदारबातयहहैकिचुनावकीअधिसूचनाभीजारीकरदीगईहैइसलिएहोलीऔररंगीनहोनेलगीहै।

कार्यालयोंमेंभीयुद्धस्तरपरकार्यनिबटाकरलोगहोलीकीछुट्टीमेंघरोंकीओरजानेमेंलगेहुएहैं।फिलहालचुनावकीअधिसूचनाजारीहोनेकीवजहसेकईअधिकारियोंवकर्मचारियोंकेघरजानेकेमंसूबोंपरपानीफिरतानजरआरहाहै।

-----------नकलीगुलालबिगाड़देगाआपकेचेहरेकीरौनक

होलीकेत्योहारकेमद्देनजरबाजारोंमेंमिलावटरंगबड़ेपैमानेपरचलरहेहैं।प्राकृतिकरंगोंऔरअभ्रककीजगहचाइनाएवंरंगसेतैयारगुलालबाजारोंमेंउतारेगएहैं।यहचेहरेकीरौनकबिगाड़सकतेहैं।अभ्रकमहंगाहोनेकेकारणउसकीजगहचूनावबालूमोरंगसेअबीरगुलालतैयारकरकेमिलावटखोरबाजारमेंउताररहेहैं।दुकानोंपरअसलीअभ्रकवालागुलाल6000से7000रुपयेप्रतिक्विटलहैजबकिमिलावटी3000-4000प्रतिक्विटलबिकरहाहै।थोकविक्रेताओंकेअनुसारब्रांडेडगुलालमेंमिलावटनहींहै।इनमेंरंगगुलालतोसहीमिलताहैपरवजनकमहोताहै।