चारधाम यात्रा के लिए 40 से 80 फीसद होटल बुक

संवादसहयोगी,गोपेश्वर:चारधामयात्राकोलेकरइसबारश्रद्धालुओंमेंभारीउत्साहनजरआरहाहै।अभीयात्राशुरूहोनेमेंएकमाहसेअधिककासमयशेषहै,लेकिन40से80फीसदहोटलदससे30जूनतककेलिएबुकहोचुकेहैं।बीतेदोवर्षकोविडसंक्रमणकेचलतेचारधामयात्रानहींचलपाईथी,लेकिनइसबाररिकार्डयात्रियोंकेपहुंचनेकीउम्मीदहै।इसीकोदेखतेहुएचारधामरूटकेव्यापारियोंनेअभीसेतैयारियांशुरूकरदीहैं।चारधामयात्रातीनमईकोयमुनोत्रीवगंगोत्रीधामकेकपाटखुलनेकेसाथशुरूहोगी।केदारनाथकेकपाटछहऔरबदरीनाथकेआठमईकोखोलेजानेहैं।

कोविडप्रतिबंधहटनेकेबादइसबारचारधामयात्राकोलेकरहोटलवपर्यटनव्यवसायीखासेउत्साहितहैं।बदरीनाथहोटलएसोसिएशनकेअध्यक्षराजेशमेहताकाकहनाहैकिबदरीनाथधाममें40प्रतिशतसेअधिकहोटलदसजूनतककेलिएबुकहोचुकेहैं।अन्यहोटलोंमेंजूनआखिरतककीबुकिंगहोरहीहै।बदरीनाथधाममेंटै्रवल्सकंपनियोंकोअग्रिमबुकिंगकेलिएपर्याप्तकमरेउपलब्धनहींहोपारहे।सो,इसकाहलनिकालनेकोबड़ीयात्राकंपनीअबजोशीमठसहितयात्राकेअन्यपड़ावोंपरहोटलोंमेंअग्रिमबुकिगकररहीहैं।यात्राकेप्रमुखपड़ावजोशीमठ,पांडुकेश्वर,पीपलकोटीबिरहीक्षेत्रपालसहितअन्यस्थानोंपरभीहोटलोंमेंअग्रिमबुकिगहुईहै।जिलापर्यटनअधिकारीसोबतसिंहराणानेबतायाकिबदरीनाथधाममें15हजारसेअधिकयात्रियोंकेठहरनेकीव्यवस्थाहै।इसकेअलावाधर्मशालाभीउपलब्धहैं।यात्रामार्गपरभीहोटल,होमस्टेआदिमौजूदहैं।

25जूनतककेलिएहोचुकीहैअग्रिमबुकिंग

रुद्रप्रयाग:केदारघाटीमेंगौरीकुंड,सोनप्रयाग,गुप्तकाशी,फाटा,तिलवाड़ा,अगस्त्मयुनि,रुद्रप्रयागआदिपड़ावोंपरस्थित50फीसदहोटलआगामी25जूनतककेलिएबुकहोचुकेहैं।होटलएसोसिएशनकेअध्यक्षप्रेमगोस्वामीनेबतायाकिविभिन्नराज्योंसेयात्रीवट्रैवलएजेंटलगातारबुकिंगकेलिएसंपर्ककररहेहैं।एसोसिएशनकेसचिवनितिनजमलोकीकेअनुसारयात्राबेहतरचलेतोव्यवसायियोंकोबैंककेकर्जेसेनिजातमिलसकेगी।जिलाधिकारीमनुजगोयलनेबतायाकियात्रातैयारियांजोरोंपरहैं।यात्रियोंकोकिसीतरहकीदिक्कतनहो,इसकेलिएप्रशासननेअधिकारियोंकोसमयसेसभीतैयारियांपूरीकरनेकेनिर्देशदिएहैं।

मईकेलिए600सेअधिकहोटलबुक

उत्तरकाशी:जिलेमें600सेअधिकहोटलमईकेलिएबुकहोचुकेहैं।जबकि,15जूनतककेलिए80प्रतिशतऔर15से30जूनतककेलिए50प्रतिशतहोटलोंमेंअग्रिमबुकिंगहोचुकीहै।उत्तरकाशीहोटलएसोसिएशनकेअध्यक्षशैलेंद्रमटूड़ानेबतायाकि15जूनतककीबुकिंगहोचुकीहै,जबकि15जूनकेबादकीबुकिगअभीआरहीहै।एडवांसबुकिगकोदेखतेहुएहोटलव्यवसायीअपनेहोटलोंकीमरम्मतऔरसाज-सज्जामेंजुटेहैं।बतायाकिउत्तरकाशीजिलेकीआर्थिकीयमुनोत्रीवगंगोत्रीधामकीयात्रापरटिकीहै।यात्रापर2012व2013कीआपदाकाखासाप्रभावपड़ा।वर्ष2019मेंजैसे-तैसेयात्रापटरीपरलौटी,लेकिन2020और2021मेंकोरोनानेफिरराहअवरुद्धकरदी।इसबारदेशकेविभिन्नहिस्सोंसेटूरएंडट्रैवलएजेंसियांहोटलोंकीएडवांसबुकिगकरारहीहैं।