बूंद-बूंद पानी से किसान सींच रहे गन्ना

सिद्धार्थनगर:अबकिसानकमपानीमेंफसलोंकोतैयारकररहेहैं।इससेजलसंचयहोरहाहै।गन्नाविभागनेबकायदाइसकेलिएयोजनाभीशुरूकियाहै।पहलेफ्लडसिचाईव्यवस्थासेसिचाईहोतीथी।इसमेंएकहेक्टेयरमेंऔसतपांचलाखलीटरपानीलगताथा।नईतकनीकड्रिपसिचाईसेअबएकहेक्टेयरकीफसलमेंमात्रदोलाखलीटरपानीकाहीप्रयोगहोगा।इसतरहप्रतिहेक्टेयरतीनलाखलीटरपानीकीबचतहोरहीहै।

प्रतिदिनजलस्तरमेंकमीहोरहीहै।भू-जलसंचयनकीआवश्यकताकोदेखतेहुएइसेअबकिसानप्रयोगमेंलारहेहैं।ड्रिपसिचाईयोजनामेंपौधोंकोसीधेपाइपकेमाध्यमसेआवश्यकताकेअनुसारपानीऔरउर्वरकमिलरहाहै।इससेजलएवंउर्जामेंबचतहोगी।इसराइलसेशुरूहुईथीयोजना

ड्रिपसिचाईयोजनासबसेपहलेइजराइलमेंशुरूहुईथी।वहांपरकिसानोंनेएक-एकबूंदपानीकासदुप्रयोगकिया।जबयहसफलहोगइर््तोइसेराजस्थानमेंइसेप्रयोगकेतौरपरलायागया।अबजिलेमेंभीयहयोजनामूर्तरूपलेनेलगीहै।इन्होंनेअपनाईयहनईविधि

किसानग्रामब्लाक

राजेंद्रसिगारजोतभनवापुर

अमरेशसिंहबभनीशोहरतगढ़

हरिओममैनभरियाखुनियांव

रामशंकरधौरहराखुनियांव

रमावतीजियाभारीबढ़नी

सफीउल्लाहरेड़वरियाबढ़नी

मोरध्वजसिंहसिकटाभनवापुर

राजनारायणपांडेयपरसाबढ़नी

राजेंद्रगड़रखाबढ़नी

हरिरामरोइनिहवाबढ़नी

रफीउल्लाहरोइनिहवाबढ़नीड्रिपसिचाईयोजनाकाफायदाकिसानोंकोमिलरहाहै।इसविधिकेप्रयोगसेजलसंचयकोबढ़ावामिलरहाहै।यहसमयकीजरूरतहै।फसलकोभीआवश्यकताकेअनुरूपपानीमिलतारहेगा।किसानकीबचतहोरहीहै।

जिलागन्नाअधिकारी