बस्ती से बनारस चुनाव ड्यूटी में जा रहा था जवान, 2003 में हुआ भर्ती

उत्तरप्रदेशकेबस्तीकेमुंडेरवाखजौलामेंट्रककीचपेटमेंआनेसेगोरखपुरकेबेलघाटकेरामपुरनिवासीसीआरपीएफजवान42वर्षीयहीरालालकीमौतहोगई।परिजनोंकेअनुसारवहबस्तीकेकप्तानगंजविधानसभामेंचुनावड्यूटीगयाथा।उसकेसाथउसकेबटालियनकेलोगभीथे।

वहांसेचुनावड्यूटीसमाप्तहोनेकेबादगुरूवारकीरातवहअपनेसाथियोंकेसाथबनारसमेंचुनावड्यूटीकेलिएजारहेथे।जहांरास्तेमेंमुंडेरवाकेपासएकट्रकनेउनकीगाड़ीमेंटक्करमारदी।इसमेंहीरालालसमेत3जवानकीमौतहोगई।

2003मेंभर्तीहुएथेहीरालाल

परिजनोंकेअनुसारहीरालालसीआरपीएफमेंवर्ष2003मेंभर्तीहुएथे।3मार्चकोउनकीड्यूटीबस्तीमेंलगीथी।वह3भाइयोंमेंसबसेबड़ेथे।उनकेदोभाईप्राइवेटनौकरीकरतेहैं।उनकीतीनबेटियां12वर्षीयनिशा,10वर्षीयविद्याऔर4वर्षीयनेहाहै।पिताअंबिकालालनेबतायाकिहीरालालबहुतहीहोनहारथा।

रात10बजेहुईथीबात

पितानेबतायाकिबस्तीमेंचुनावड्यूटीसमाप्तहोनेकेबादउनकीबातगुरूवारकीरात10बजेबेटेसेहुईथी।उसनेबतायाकिवहबनारसमेंचुनावड्यूटीकेलिएजारहाहै।रातमेंवेसोएऔरशुक्रवारकीसुबहमौतकीखबरआई।हीरालालकाशवजैसेहीगांवपहुंचावहांलोगोंकाहूजुमजुटगया।लोगभारतमाताकीजयकेनारेलगानेलगे।देरशामपितानेउन्हेंमुखाग्नि​दी।

मांसेपूछरहीबेटियांपापाकहांगए

जबउनकेगांवपरशवपहुंचातोमासूमबेटियांअपनीमांसेपूछबैठीकीपापाकहांगए।यहसवालसूनहीरालालकीपत्नीदहाड़ेमारकररोनेलगी।किसीतरहहीरालालकेपिताने​बेटियोंकोसमझाया।कुदरतकेइसफैसलेसेगांववालेआहतदिखे।उनकाकहनाथाकिअबइनबेटियोंकाक्याहोगा?इनकीक्यागलतीथी?