बने 26 सीएचसी, तैनात हों 78 डॉक्टर तो सुधरे सेहत

बहराइच:जिलेमेंमौजूदासमयमेंआबादीतकरीबन40लाखहै।इतनीबड़ीआबादीकेउपचारकेलिए40सीएचसीकीजरूरतहै,लेकिनविभागकेपाससिर्फ14सीएचसीहीमौजूदहैं।इसकेअलावा47पीएचसीभीगांव-देहातोंमेंमरीजोंकाउपचारकररहीहैं।उपचारमेंसबसेबड़ीबाधाचिकित्सकवपैरामेडिकलस्टॉफकीकमीहै।

जिलेकीसीएचसीवपीएचसीपरपांचवर्षोंसेचिकित्सकोंकेपदखालीपड़ेहैं।184चिकित्सकोंकेपदसृजितहैं,लेकिनइनमेंसेमात्र106चिकित्सकोंकीहीतैनातीहै।78चिकित्सकोंकेपदपांचवर्षोंसेरिक्तचलरहेहैं।स्टाफनर्सके42पदस्वीकृतहैं।इनमेंसिर्फसातकीतैनातीहै,35पदखालीचलरहेहैं।एएनएमकेस्वीकृत350पदोंकेसापेक्ष250कीतैनातीहै।100पदरिक्तहैं।वार्डब्वायके82स्वीकृतपदोंमें12रिक्तहैं।स्वीपरके78स्वीकृतपदोंमें31रिक्तहैं।ऐसेमेंसवालउठताहैकिक्याआधारभूतसंरचनाओंकेविकासकेबिनागांवकेलोगमुस्तैदरहकरपिछड़ेपनकीचुनौतियोंकोस्वीकारकरसकतेहैं।

जिलापुरुषअस्पतालमेंडॉक्टरोंकाअकाल

जिलाअस्पतालमेंफिजीशियन,रेडियोलाजिस्टकेदोपदसृजितहैं।वर्षोंसेदोनोरिक्तहैं।इसीतरहदंतशल्यकवनेत्रसर्जन,हृदयरोगविशेषज्ञकेएक-एकपदवर्षोंसेखालीहैं।इसीतरहईएमओकोतीनपदबीतेचारवर्षोंसेखालीपड़ेहैं।स्टाफनर्सके30पदस्वीकृतहैलेकिन25पदआजभीरिक्तहै।एसएलटीकेदोपद,प्रयोगशालासहायककेदोपद,फिजियोथिरेपिस्टवआकोपेशनलथैरेपिस्टकेएक-एकपदवर्षोसेखालीहै।

जिलामहिलाअस्पतालभीबदहाल

जिलामहिलाअस्पतालमेंचिकित्सकोंके13पदखालीहैं।इनमेंमात्रतीनहीतैनातहैंजिसमेंडॉ.मधुगैरोला,डॉ.सिल्कीवडॉ.अंजूश्रीवास्तवशामिलहैं।इसीतरहस्टाफनर्सकेआठपदखालीपड़ेहैं।उपचारिकाकेभीदसपदोंमेंसेमात्रचारकीहीतैनातीहै।छहपदवर्षोसेरिक्तहै।मात्रिकावसिस्टरकेएक-एकपदवएमएसडब्ल्यूअधीक्षिकाकाभीपदखालीचलरहाहै।