बंदरों का उत्पात जानलेवा, पकड़ने के इंतजाम नहीं

पीलीभीत,जेएनएन:नगरहोयागांव,बंदरोंकाउत्पातहरजगहदिखजाताहै।बीसलपुरमेंतोबंदरोंकेहमलेमेंएककीमौतहोचुकीहै।साथहीकईलोगघायलभीहुएहैं।बंदरोंकेहमलेकीछिटपुटघटनाएंतोलगभगरोजहीजिलेमेंकहींनकहींहोतीरहतीहैं।उत्पातीबंदरोंपकड़वाकरजंगलमेंभिजवानेकीप्रक्रियाभीआसाननहींहै।नगरनिकाययाग्रामपंचायतबंदरोंकोपकड़वाकरसुरक्षितजंगलमेंछुड़वानेकेलिएसामाजिकवानिकीवन्यजीवप्रभागमेंआवेदनकरनाहोताहै।विभागीयअधिकारीआवेदनकोअपनीसंस्तुतिकेबादशासनकोभेजतेहैं।वहींसेबंदरोंकोपकड़वानेकीअनुमतिजारीकीजातीहै।मौतका

बीसलपुर:नगरमेंबंदरोंकाआतंकदिनोंदिनबढ़ताजारहाहै।बंदरोंकेझुंडछतोंवदीवारोंपरमंडरातेरहतेहैं।अक्सरबंदरहमलाभीकरदेतेहैं।पिछलेचारमहीनेकेदौरानहमलेसेएकव्यक्तिकेछतसेनीचेगिरजानेसेमौतहोचुकीहै।एकविवाहितापरबंदरझपटातोहड़बड़ाहटमेंवहछतसेगिरकरघायलहोगई।इसअवधिमेंकरीबदर्जनभरलोगबंदरोंकेहमलेमेंघायलहोचुकेहैं।बंदरोंकेआतंककेकारणलोगअपनेबच्चोंकोमकानकीछतपरनहींजानेदेते।30मार्चकोमुहल्लाबाजारकटरानिवासीतेजबहादुरअपनीछतपरगएथे।अचानकबंदरोंकेझुंडनेउनपरहमलाबोलदियाथा।इससेवहछतसेनीचेगिरगए।मौकेपरहीउनकीमौतहोगई।30जूनकोकेमुहल्लादुर्गाप्रसादनिवासीशिवकुमारशर्माकीपत्नीममताशर्माछतपरकपड़ेसुखानेगईथींतभीबंदरोंकेझुंडनेहमलाबोलकरउन्हेंछतसेनीचेनालामेंगिरादिया।वहगंभीररूपसेघायलहोगईं।अभीतकअस्पतालमेंउनकाइलाजचलरहाहै।इसीमुहल्लेकेवीरेंद्रप्रसाद,रामासरेलाल,रूद्रशर्मा,धनवती,दिनेशकुमार,नन्हेलाल,मुहल्लादुबेनिवासीगौरवकुमार,अनिलकुमारसमेतएकदर्जनलोगबंदरोंकेहमलेसेघायलहोचुकेहैं।

तत्कालीनउपजिलाधिकारीवंदनात्रिवेदीकेनिर्देशपरएकवर्षपूर्वपालिकाप्रशासननेमथुरासेबंदरोंकोपकड़नेवालीटीमबुलवाकरबंदरोंकोपकड़नेकेलिएअभियानचलायाथा।बंदरोंकोदियोरियांरेंजकेजंगलमेंछोड़नेपरवनविभागकेअधिकारियोंनेविरोधकियाथा,इसकेचलतेअभियानठपगयाथा।नगरपालिकापरिषदकीअधिशासीअधिकारीवंदनाशर्माकाकहनाहैकिशीघ्रहीसमस्याकानिस्तारणकरानेकेलिएप्रभावीकदमउठाएजाएंगे।

30मार्चपिताछतपरगएथे।अचानकबंदरोंनेउनपरहमलाबोलदियाथा।नीचेगिरकरसिरमेंगंभीरचोटलगनेसेउनकीमृत्युहोगईथी।इसकीशिकायतउच्चाधिकारियोंसेकीपरंतुआजतकबंदरोंकेआतंककीओरध्याननहींदियागया।

हमारेविद्यालयमेंपढ़नेवालीछात्राओंपरकईबारबंदरोंकेझुंडद्वाराहमलाकियाजाचुकाहै।इसकीशिकायतसंबंधितअधिकारियोंसेकरचुकेहैंपरंतुअभीतकप्रभावीकदमनहींउठाएगएहै।विद्यालयमेंपढ़नेवालीछात्राएंबंदरोंकेआतंकसेपरेशानरहतीहैं।

मीनाकुमारी,प्रधानाचार्य

बंदरोंसेसुरक्षाकोघरोंमेंलगाईलोहेकीजाली

पूरनपुर:नगरमेंबंदरोंकाउत्पातकाफीबड़ेपैमानेपरहै।लोगोंनेउनसेसुरक्षाकरनेकेलिएघरोंकोजालीसेकवर्डकियाहुआहै।रोजानाकीबंदरकाशिकारहोकरलोगएंटीरैबीजकीडोजभीलगवानेपहुंचरहेहैं।इनकाकारवांग्रामीणक्षेत्रोंमेंभीतेजीकेसाथबढ़रहाहै।नगरमेंभीबंदरउत्पातमचारहेहैं।घरोंकेअंदरघुसकरसामानऔरकपड़ेआदितहसनहसकरदेतेहैं।लोगोंनेइनसेसुरक्षितरहनेकेलिएघरोंकोजालीसेकवर्डकरादियाहै।भूलवशअगरदरवाजाखुलारहताहैतोबंदरसामानलेजानेसेबाजनहींआते।कईबारइनकीघुड़कीसेबच्चेछतसेनीचेगिरजातेहैं।रोजानाइनकाकोईनकोईशिकारहोकरसीएचसीमेंएंटीरैबीजइंजेक्शनलगवानेपहुंचताहै।कोतवालीऔरतहसीलमेंभीइनबंदरोंकाप्रकोपरहताहै।कईबारनगरवासियोंनेइन्हेंपकड़वानेकीमांगकी,लेकिनअभीतकयहपकड़ेनहींगएहैं।अगरकिसीगांवयानगरमेंबंदरोंकीसमस्याहैतोग्रामपंचायतयासंबंधितनगरनिकायसेविभागमेंआवेदनभेजाजाताहै।संस्तुतिकेबादउसेशासनकोभेजतेहैं।वहींसेउच्चाधिकारीबंदरोंकोपकड़वाकरजंगलमेंछोड़नेकाठेकाएक्सपर्टलोगोंकीफर्मकोदियाजाताहै।इसकाव्ययसंबंधितनिकायकोवहनकरनापड़ताहै।

-संजीवकुमार,प्रभागीयनिदेशकसामाजिकवानिकीएवंवन्यजीवप्रभाग