बंद पड़े छात्रावासों के समाज कल्याण अधिकारी ने देखे हालात

जागरणसंवाददाता,मथुरा:जिलेमेंसमाजकल्याणविभागकीओरसेचारछात्रावासोंकासंचालनकियाजारहाहै।चारोंछात्रावासोंकीवर्तमानस्थितिकोलेकरउच्चाधिकारियोंनेरिपोर्टमांगीहै।इसकोलेकरजिलासमाजकल्याणअधिकारीनेचारोंछात्रावासोंकेहालातोंकाजायजालियाहै।

शुक्रवारकोजिलासमाजकल्याणअधिकारीडा.करुणेशत्रिपाठीनेबतायाकिजिलेमेंचारछात्रावासहैं।इनमेंसेदोछात्रोंकेऔरदोछात्राओंकेछात्रावासहैं।इनमेंसेदोछात्रावास(एकछात्रतथाएकछात्राओंका)शहरमेंहैं।जबकिदोछात्रावास(एकछात्रतथाएकछात्राओंका)मांटकेहसनपुरगांवमेंबनेहुएहैं।इनमेंसेशहरकेदोनोंछात्रावासकातोसंचालितहोरहाहै।इनमेंछात्रोंवालेछात्रावासमेंकरीब16छात्रहैं,जबकिछात्राओंवालेछात्रावासमेंकरीबदसछात्राएंहैं।उन्होंनेबतायाकिहसनपुरगांवमेंराधाकृष्णडिग्रीकालेजहैं।सालोंपहलेएकयोजनाआईथी,जिसकेतहतकोईभीमहाविद्यालयअपनेकैंपसमेंछात्रावासकानिर्माणकरासकताथा।उसदौरानहीराधाकृष्णमहाविद्यालयमेंदोछात्रावासोंकानिर्माणहुआथा।इसकेबादकुछसमयतकतोयहछात्रावासकुछदिनोंतकविधिवततरीकेसेसंचालितहुए।बादमेंयहांरहनेवालाकोईनहींमिला।इसकेबादसेइनछात्रावासोंकीहालतखस्ताहोगईहै।ग्रामीणयहांअपनेपशुओंकोबांधरहेहैं,महिलाएंउपलेथापरहीहैं।समाजकल्याणअधिकारीनेबतायाकिहसनपुरकेछात्रावासोंसंचालनकरनेमेंकमसेकम50लाखरुपयेखर्चहोंगे।बावजूदइसकेवहांछात्रोंकेरहनेकेलिएकोईशिक्षणसंस्थाननहींहैं।ऐसेमेंवहांछात्रोंकारुकपानामुश्किलहोगा।