बिजौरा-सोहना मार्ग बना तालाब, आवागमन दुश्वार

सिद्धार्थनगर:क्षेत्रअन्तर्गतबिजौरा-सोहनामार्गतालाबबनगयाहै।जननिकासीसमस्यासेयहांसदैवजल-जमावकीस्थितिबनीरहतीहै।रातमेंहुईबारिशकेबादहालातनारकीयबनगएहैं।राहगीरोंकाआवागमनमेंमुश्किलहोरहीहै।

आवागमनकी²ष्टिसेमार्गमहत्वपूर्णहै।ग्रामीणोंकामुख्यसंपर्कमार्गहोनेकेसाथब्लाक,तहसीलवजनपदमुख्यालयकोभीयहसड़कजोड़तीहै।मुहम्मदपुरगांवकेपासजलजमावऐसाहैकिआधीसड़कमेंगंदापानीभरारहताहै।मार्चकेमहीनेमेंसंचारीरोगफैलनेकीसंभावनाअधिकरहतीहै।इसीलिएइसमाहमेंस्वच्छतासमेततमामजागरूकताकेकार्यक्रमचलाएजातेहैं।जिससेजलजनितबीमारीपैरनपसारसके।परंतुयहांकीसमस्यापरजिम्मेदारआंखमूंदेहुएहैं।नहीजलनिकासीकाकोईप्रयासकियाजाताहैऔरनहीगंदगीदूरकीजारहीहै।दवाछिड़कावभीनहींहुआ।

जमीलअहमद,रमेश,कृष्णकुमारगुप्ता,अल्ताफ,रियाजआदिकाकहनाहैकिसमस्याकाफीदिनोंसेहै,कईबारआवाजउठाईगई,मगरसमाधानकीदिशामेंजिम्मेदारोंकारवैयाउदासीनबनाहुआहै।गंदगीकेकारणसंक्रामकरोगभीफैलसकताहै।ग्रामीणोंनेप्रशासनसेइसदिशामेंउचितकदमउठानेकीमांगकीहै।

खंडविकासअधिकारीधनन्जयसिंहनेकहाकिवस्तुस्थितिकापताकरातेहैं,फिरसमाधानकेलिएजोजरूरीकदमहोंगे,उठाएजाएंगे।जैविकखेतीपरध्यानदेंकिसान:प्रभुनाथसिद्धार्थनगर:क्षेत्रकेग्रामखखरांवमेंश्रीगंगागायत्रीगौविज्ञानअनुसंधानट्रस्टकेतत्वावधानमेंकिसानगोष्ठीआयोजितहुई।जिसमेंकिसानोंकोजैविकखेतीकेबारेमेंमहत्वपूर्णजानकारियांदीगईं।

मुख्यअतिथिट्रस्टकेअध्यक्षप्रभुनाथमिश्रनेकहाकिविषमुक्तकृषिक्रांतिकीनईशुरुआतजैविकखादअपनानेसेहोनीचाहिए।जहरमुक्तअनाजउत्पादनकेलिएकृषकोंकोजागरूकहोनेकीआवश्यकताहै।कृषिसुधाकाप्रयोगकरें,इससेपौधोंकोअतिआवश्यकतत्वजोहवाऔरपानीकेमाध्यमसेलिएजातेहैं,जैसेहाइड्रोजनऔरआक्सीजनउन्हेंलेनेमेंभीविशेषमददमिलतीहै।पौधोंकीरोगप्रतिरोधकक्षमतामेंवृद्धिहोनेकेकारणपौधोंकेआसपासहानिकारककीटभीनहींआतेहैं।

जैविकखादकेप्रयोगकेबारेमेंउन्होंनेकहाकिगेहूंकीफसलकेलिएमिट्टीमेंजीवामृतकाप्रयोग10लीटरप्रतिबीघाधानकटनेकेबादफसलअवशेषपरकरें।अमितमिश्रा,संजयतिवारी,अमितत्रिपाठी,अभिषेकमिश्रा,ग्रीष्देव,दुर्गाप्रसाद,रामलखन,मायाराम,सोमई,पवन,अवधराम,सोनू,प्रिस,सूरज,चन्द्रभान,विवेक,छोटेलाल,रामचंदर,सुन्दरआदिकिसानमौजूदरहे।