बीमारी से जान बचाना भी हो गया महंगा, दवाओं की कीमतों में दस फीसद से अधिक का इजाफा

वाराणसी[मुकेशचंद्रश्रीवास्‍तव]।देशमेंअबबीमारीसेजानबचानाभीमहंगाहोगयाहै।वहींदवाओंकीकीमतोंमेंदसफीसदसेअधिककाइजाफाहोचुकाहै।एकअप्रैलसेकीमतेंप्रभावीहोगईहैं।अगलेमाहसेबीपी,बुखार,हृदयरोगआदिरोगकेउपचारमेंआनेवालीदवाओंकाभावबढ़जाएगा। कईसालबादएनपीपीएनेदवाओंकेभाव10.7प्रतिशतबढ़ानेकीअनुमतिमिलगईहै। महंगाईकीमारकेबीचअबदवाओंकेभावभीबढ़नेवालेहैं।अगलेमाहसेदवाओंकीकीमत10.7प्रतिशततकबढ़जाएंगी।इसमेंहाईब्लडप्रेशर,बुखार,हृदयरोग,त्वचारोगआदिकीदवाएंशामिलहैं।

अप्रैलमाहसेदर्दनिवारकवएंटीबायोटिकफिनाइटोइनसोडियम,मेट्रोनिडालोजकेसाथहीबुखारकीदवापैरासीटामाल,डोलोआदिजैसीजरूरीदवाओंपरभीमहंगाईकाअसरदिखेगा।फार्माइंडस्ट्रीकईसालसेदवाओंकारेटबढ़ानेकीमांगकररहीथी।कारणकिदवाउत्पादनमेंकीकास्टिंगपरअसरपड़रहाथा।हालांकिकोरोनाकीवजहसेसरकारनेरेटबढ़ोत्तरीपररोकलगादीथी।हालांकिइससालएनपीपीएनेशेड्यूलड्रग्सकीकीमतोंमेंवृद्धिकोहरीझंडीदेदीहै।एनपीपीएकाकहनाहैकिइनदवाओंकेदामथोकमहंगाईदरकेआधारपरकीगईहै।

कोरोनामहामारीकेबादइंडस्ट्रीदवाओंकीकीमतबढ़ानेकीलगातारमांगकररहीथी।केमिस्टएंडड्रगिस्टवेलफेयरएसोसिएशनकेअध्यक्षमनोजखन्नानेबतायाकिशेड्यूलड्रग्समेंआवश्यकदवाएंशामिलहैंऔरइनकीकीमतपरनियंत्रणहोताहै।इसकेदामबगैरअनुमतिकेनहींबढ़ाएजासकतेहैं।जिनकेदामबढ़नेजारहेहैंउनमेंकोरोनाकेमध्यमसेलेकरगंभीरलक्षणोंवालेमरीजोंकेउपचारमेंउपयोगकीजानेवालीदवाएंभीशामिलहैं।मालूमहोकिवाराणसीमेंहीपूर्वांचलकीसबसेबड़ेदवामंडीहै।यहांगोरखपुरतकदवाओंकीआपूर्तिहोतीहै।साथहीबिहारकेभीकुछहिस्सोंमेंवाराणसीसेहीदवाएंआपूर्तिहोतीहै।यहांपरएकसालमेंकरीब12000करोड़कादवाकारोबारहोताहै।