Bihar Assembly Elections : अब जाति और धन बल आधारित हुई राजनीति, पार्टी और जनता के प्रति कम हो रही निष्ठा

मुजफ्फरपुर,[प्रेमशंकरमिश्र]।BiharAssemblyElections:एकदौरथा,जबचुनावमेंजीतयाहारमायनेनहींहोते।हारनेवालेभीक्षेत्रमेंजनताकेबीचउतनाहीसमयदेतेथे,जितनाजितनेवाले।दोनोंकेसंबंधोंमेंखटासनहींआती।कामकीआलोचना-समालोचनाकेबीचउसकाहलनिकालाजाता।मगर,अबचुनावकेलिएटिकटपानेसेलेकरजनप्रतिनिधिबननेऔरइसकेबादफिरमैदानमेंउतरनेतककेसफरमेंकाफीकुछबदलगयाहै।दशकोंपहलेक्षेत्रकाप्रतिनिधित्वकरनेवालेजनप्रतिनिधियोंकामाननाहैकिजनताकीसेवाकेलिएकईप्लेटफॉर्महैं।समर्पणभावहोनाचाहिए,जिसकीकमीखटकतीहै।उसदौरमेंटिकटकेलिएकार्यकर्ताओंकीकर्मठतापहलीयोग्यताहोतीथी।अबतोयेशब्दसिर्फपोस्टरोंमेंनजरआतेहैं।यहीकारणहै,जनप्रतिनिधियोंकीनिष्ठापार्टीसेलेकरजनतातककमहोरही।

समाजसेवी,चरित्रवानवकर्मठलोगबनेंउम्मीदवार

लालगंजविधानसभाक्षेत्रसेविधायकरहेकेदारनाथप्रसादकहतेहैं,समाजकेबीचकेलोगोंकीभागीदारीराजनीतिमेंकमहोगईहै।पाॢटयांऐसेलोगकोउम्मीदवारबनाएंजोसमाजसेवी,चरित्रवानवकर्मठहों।पताचलताहैकिजिसव्यक्तिकाराजनीतियाक्षेत्रसेदूर-दूरतकसंबंधनहींवेटिकटपालेतेहैं।येलोगजनप्रतिनिधियाकार्यकर्तानहोकरअभिकर्तारहजातेहैं।पूर्वमंत्रीदिनेशप्रसादनेकईबारमीनापुरविधानसभाक्षेत्रकाप्रतिनिधित्वकियाहै।कहतेहैं,पहलेकीबातअबहैहीनहीं।पहलेजनतासेवाप्रमुखध्येयथा।अबतोअधिकतरजनप्रतिनिधिअपनीसेवापरहीध्यानदेरहेहैं।जनताकीसेवाकेलिएजरूरीनहींआपविधायक,मंत्रीयासांसदहीबनें।मगर,अबलगतानहींकिवहदौरफिरलौटेगा।

राजनीतिकामतलबबदला

जेपीआंदोलनसेजुड़ेऔरदोबारविधायकवमंत्रीरहेबसावनप्रसादभगतमानतेहैंकिराजनीतिकामतलबबदलाहै।एकसमयमेंलोगअपनीसंपत्तिलगाकरसमाजकाकामकरतेथे।हां,जनप्रतिनिधिहोनेसेफंडकीपरेशानीनहींहोतीथी।मगर,अबअधिकफंडकेबावजूदसमस्याएंरहजातीहैं।क्योंकि,सामूहिकताकमहुईहै।चारबारविधायकऔरमंत्रीरहेहिंदकेसरीयादवकीमानेंतोआजकाचुनावीपरिदृश्यपूरीतरहबदलगयाहै।पार्टीकोसंगठनऔरकार्यकर्तासेबहुतमतलबनहींरहगया।जातिऔरधनबलआधारितराजनीतिहावीहोगईहै,जोऐसानहींकररहे,वेपिछड़जारहे।पहलेऐसानहींथा।कामहीथाजोटिकटऔरवोट,दोनोंदिलाताथा।इसकेलियेपार्टीदफ्तरमेंदौड़नहींलगानीपड़तीथी।