बिहार : कांग्रेस को 25 साल बाद मिला जश्न मनाने का मौका

बिहारमेंकईवर्षोतकएकछत्रराजकरनेवालीकांग्रेसकेलिएइसबारविधानसभाचुनावकेनतीजेबेहदसुखदरहे।कांग्रेसकेनेताओंऔरकार्यकर्ताओंकोवर्षोबादखुशहोनेऔरजश्नमनानेकामौकामिलाहै।इसचुनावमेंवर्ष1990केबादपहलीबारकांग्रेसकीसीटघटनेकेबजायबढ़ीहै। कांग्रेससत्ताधारीमहागठबंधनमेंशामिलहै।चुनावकेपहलेकहाजाताथाकिबिहारमेंकांग्रेसकेपासनजनहैनआधार,लेकिनइसीकांग्रेसनेइसचुनावमें41सीटोंपरउम्मीदवारउतारेऔर27सीटेंझटकीलीं,जबकिवर्ष2010केविधानसभाचुनावमेंकांग्रेसकोमात्रचारसीटेंमिलीथीं। कांग्रेसकेप्रदेशअध्यक्षअशोकचौधरीभीकहतेहैंकिजिसप्रकारमहागठबंधनकेपासनीतीशकुमारकाचेहराथाऔरकांग्रेसकेअध्यक्षसोनियागांधीऔरउपाध्यक्षराहुलगांधीकाआक्रामकप्रचारथा,उससेतयथाकिकांग्रेसकीसीटोंमेंइजाफाहोगा।

पिछलेढाईदशकसेबिहारमेंसियासीजमीनतलाशरहीकांग्रेसनेइसचुनावमें27सीटेंजीतीहैंजोवर्ष1995केबादसबसेअधिकहै। बिहारमेंकभी42प्रतिशतसेज्यादामतोंपरकब्जाजमानेवालीकांग्रेसकोपिछलेविधानसभाचुनावमेंमात्रआठफीसदीमतहीमिलेथे। बिहारमेंकिसीजमानेमेंकांग्रेसकासामाजिकवराजनीतिकदबदबापूरीतरहथा,लेकिनकालांतरमेंसामाजिकताने-बानेकोजोड़नेमेंकांग्रेसनाकामरहीऔरपिछड़तीचलीगई।कांग्रेसबिहारमेंजबवर्ष1990मेंसत्तासेबाहरहुई,तबसेनकेवलउसकासामाजिकआधारसिमटतागया,बल्किउसकीसाखभीफीकीपड़तीचलीगई। राजनीतिकेजानकारसुरेंद्रकिशोरभीकहतेहैंकिइसचुनावमेंकांग्रेसकोखोनेकेलिएकुछनहींथा,जोभीथावहपानाहीथा।इसदौरानजबकांग्रेसमहागठबंधनमेंशामिलहुईतबहीयहतयथाकिअगरगठबंधनमेंशामिलअन्यदलअपनेमतदाताओंकोदूसरेदलोंमेंशिफ्टकरसकें,तोकांग्रेसकोफायदाहोगाऔरयहीहुआ।

वर्ष1990मेंसत्तासेबाहरहुईकांग्रेसकेखातेमेंउससमय72सीटेंथी।गौरतलबहैकिउससमयबिहारऔरझारखंडएकहीथा। आंकड़ोंपरगौरकरेंतोवर्ष1995मेंहुएविधानसभाचुनावमेंकांग्रेसकोमात्र29सीटोंपरसंतोषकरनापड़ा,जबकिवर्ष2000मेंहुएराज्यविधानसभामेंकांग्रेसकीहालतऔरपतलीहोगईऔरइसकेमात्र14उम्मीदवारहीजीतसके। फरवरी,2005मेंहुएचुनावमेंकांग्रेसके10,जबकिइसीवर्षनवंबरमेंहुएचुनावमेंपार्टीएकअंकतकपहुंचतेहुएमात्रनौसीटोंपरसिमटगई।पिछलेविधानसभाचुनावमेंकांग्रेसकोमात्रचारसीटेंहीमिलीथीं,जोअबतककासबसेन्यूनतमहै।यहभीपढ़े– बिहारविधानसभाचुनाव:कांग्रेसकेलिएअस्तित्वकीलड़ाई

कांग्रेसकेवरिष्ठनेतासदानंदसिंहभीस्वीकारकरतेहैंकिजोकांग्रेसमतदाताउनसेअलगहोचुकेथे,आजवहीमतदाताफिरसेकांग्रेससेजुड़रहेहैं।वेकहतेहैंकिइसचुनावमेंकांग्रेसकोनौप्रतिशतसेज्यादामतहासिलहुएहैं,जोपहलेसेबेहतरहै। इसचुनावमेंकांग्रेसअपनेपूर्वसाथीराष्ट्रीयजनतादल(राजद)औरजनतादल(युनाइटेड)केसाथचुनावमैदानमेंउतरीथीऔरविकासकेनारेकीआड़मेंहरतरहकेकार्डखेलनेवालेकेंद्रमेंसत्तारूढ़राष्ट्रीयजनतांत्रिकगठबंधन(राजग)केमंसूबोंपरपानीफेरनेमेंइसनेभीमहतीभूमिकानिभाई।