भारतीय विद्यार्थियों को ढाल बना रहा यूक्रेन : लिपि

संसू,हाथरस:यूक्रेनमेंहालातभयावहहोतेजारहेहैं।यूक्रेनसरकारऔरउनकीसेनाभारतीयविद्यार्थियोंकीकोईमददनहींकररहीहै।भारतीयोंकोढालकीतरहइस्तेमालकियाजारहाहैताकिरूसीहमलेसेबचसकें।यूक्रेनसरकारकामाननाहैअगरभारतीयछात्र-छात्राएंयूक्रेनमेंफंसेरहेंगेतोरूसउनपरहमलानहींकरेगा।

येबातेंबुधवारशामकोआपरेशनगंगाकेतहतयूक्रेनसेसादाबादपहुंचीमेडिकलछात्रालिपिउपाध्यायनेबताईं।सादाबादकेडा.राजेशउपाध्यायकीबेटीलिपिउपाध्याययूक्रेनकेटर्नोपिलनेशनलमेडिकलयूनिवर्सिटीमेंचौथेवर्षकीछात्राहै।हालातबिगड़नेकेबादलिपिकईदिनटर्नाेपिलमेंहीफंसीरही।लिपिनेबतायाकिरूसकीधमकीयूक्रेननेनजरअंदाजकिया।24फरवरीकोखारकीवकेनिकटरूसनेहमलाकिया।इसकेबादलगातारयूक्रेनमेंस्थितिखराबहोतीचलीगई।यूक्रेनमेंसरकार,इंटेलिजेंसएजेंसी,यूनिवर्सिटीप्रशासननेकिसीतरहकीकोईएडवाइजरीजारीनहींकीथी।सबकुछअचानकहोगयातोयूक्रेनमेंरहनेवालेभारतीयछात्र-छात्राओंकेलिएजानकाखतरापैदाहोगया।भारतीयदूतावासविद्यार्थियोंकीनिगरानीजरूरकररहाथा,लेकिनयूक्रेनकीसरकारीमशीनरीऔरसैनिकभारतीयमेडिकलस्टूडेंटकोढालकीतरहइस्तेमालकररहेथे।उन्हेंयहलगरहाथाअगरभारतीयमेडिकलस्टूडेंट्सवहांफंसेरहेंगेतोरूसहमलानहींकरेगा।25फरवरीकोजगह-जगहधमाकेशुरूहोगए।भारतीयदूतावासकीओरसेनिर्देशजारीकिएगएकिस्टूडेंट्सबंकरमेंशरणलें।मौकालगेतोनजदीकीबार्डरपरजानेकाप्रयासकरें।इसतरहमौकालगनेपरवहपांचसाथीबैचमेटकेसाथपोलैंडबार्डरकेलिएरवानाहोगई।इनमेंझांसीकीतीनछात्राएंऔरदोछात्रशामिलहैं।जामकेकारण40किलोमीटरपैदलचलनेकेबादलिपिकोपोलैंडमेंप्रवेशमिलसका।जानलेवाहालातोंकेबीचतिरंगेनेउनकाबहुतसाथदियाहै।लिपिनेभारतसरकारकाआभारजतायाऔरकहाकिलोगभलेहीइसेराजनीतिकानामदें,लेकिनसरकारनेहमारीबहुतमददकीहै।लिपिनेकहाहैकिभारतसरकारइसतरहकीहेल्पलाइनशुरूकरे,जिससेविदेशोंमेंपढ़रहेछात्र-छात्राओंकोपरेशानीकेसमयमेंतत्कालमददपहुंचाईजासके।यूक्रेनमेंफंसेभारतीयछात्रछात्राओंकोकभीईमेल,कभीसोशलमीडिया,कभीट्वीटकेजरिएभारतसरकारसेहीमददमांगनीपड़ी।तिरंगालेकरपहुंचींबेटियां,लगेनारे

लिपिउपाध्यायअपनेझांसीकेबैचमेटछात्र-छात्राओंकेसाथकारसेसादाबादपहुंची।सभीविद्यार्थियोंकेहाथोंमेंतिरंगाझंडाथा।उनकेआतेहीआसपासकेलोगजमाहोगएऔरहाल-चालजाना।तिरंगाहाथमेंदेखलोगोंनेजोशसेहिदुस्तानजिदाबादकेनारेलगाए।राष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघनेजोरदारस्वागतकियागया।आरएसएसकेपदाधिकारियोंनेफूलमालाऔरपटकापहनाकरछात्र-छात्राओंकास्वागतकिया।इसदौरानराजेशउपाध्याय,सौदानसिंहभट्ट,नगरसंघचालककिशनगोपाल,सहनगरसंघचालकराजकुमारशर्मा,नगरकार्यवाहकडॉ.देवेशचौधरी,तहसीलप्रचारकरविद्रकुमार,पम्मीचौधरी,धारासिंह,जिलागोरक्षाप्रमुखगुड्डूचौधरी,उर्मिलाचौधरीआदिमौजूदरहे।अंकितनेमुंबईकेलिएभरीउड़ान

जासं,हाथरस:गांवमूंगसानिवासीअंकितशर्मानेयूक्रेनकेइवानोफ्रेंकविसशहरसेतीनदिनपहलेरोमानियापहुंचगएथे।वहांएकएनजीओनेशेल्टरहोममेंशरणदीथी।अंकितघरआनेकोपरेशानथे।वहांकोईसहीजानकारीनहींमिलपारहीथी।अबजाकरउन्हेंसरकारनेमददपहुंचाईहै।अंकितनेबतायाकिआपरेशनगंगाकेतहतवहभारतलौटरहेहैं।बुधवारकीसुबहएयरइंडियाकीफ्लाइटसेवहमुंबईकेलिएरवानाहुए।शामकोसातबजेफ्लाइटसेमुंबईपहुंचे।वहांसेहाथरसकेलिएरवानाहोंगे।यूक्रेनकीयुवतीसेकीशादी,

अबघरवापसीकोपरेशान

संसू,सहपऊ:क्षेत्रकेगांवसेदरियानिवासीराकेशगौतमकापरिवारलगभग12वर्षपहलेवृंदावनमेंरहनेलगाथा।वहांपरयूक्रेनकीयुवतीसेराकेशनेविवाहकरलियाथा।उनकेबड़ेभाईधर्मेंद्रगौतमनेभीयूक्रेनकीयुवतीसेशादीकीहै।दोनोंपरिवारवृंदावनमेंहीरहतेहैं।राकेशगौतमकुछमाहपहलेपत्नीकेपासयूक्रेनकेखारकीवशहरचलेगएथे।उनकाएकबेटाभीहै।राकेशकेमाता-पितासेदरियामेंरहतेहैं।युद्धशुरूहोनेसेपहलेसेहीवहभारतआनेकीकोशिशमेंथे,लेकिनअभीयहांआनहींपाएहैं।उनकेमाता-पिताबेहदचितितहैं।

चिरावलीकेललितभीआजआएंगे

संसू,सादाबाद:मूलरूपसेगांवचिरावलीनिवासीपोपसिंहअबपरिवारकेसाथमथुरामेंरहरहेहैं।उनकाबेटाललितकुमार6वर्षसेनिप्रापेट्रोसशहरमेंपढ़ाईकररहाहै।हालातखराबहोनेकेबादमुश्किलसेवेरोमानियाकेबार्डरपरपहुंचेहैं।पितापोहपसिंहकेअनुसारबेटेकेसाथमंगलवारकोबातचीतहुईथी।वहदिल्लीकेलिएरवानाहोगा।हंगरी-बुडापेस्टबार्डरपर

फंसेहैंअरौठाकाविपुल

संसू,सादाबाद:गांवअरौठानिवासीविपुलयूक्रेनकेउ•ाहोरोडशहरमेंरहकरपढ़ाईकररहेहैं।विपुलनेबतायाकिवहसाथीछात्रोंकेसाथपोलैंडबार्डरपरपहुंचेलेकिनवहांयूक्रेनसैनिकोंनेअमानवीयव्यवहारकिया।मजबूरनवहांसेहंगरी-बुडापेस्टबार्डरपरपहुंचगएहैं।इंडियनएंबेसीसेबातचीतकेबादगुरुवारकोफ्लाइटमिलनेकीउम्मीदहै।पिताअरविदगौतमनेबतायाकिएकसप्ताहसेबच्चेकाफीसंघर्षकररहेहैं।स्वदेशलौटरहेसादाबादकेछात्र

संसू,सादाबाद:उस्मानगंजनिवासीशादाबअलीयूक्रेनकेविनेक्सियामेंफंसेहुएथे।वहहंगरीसेदिल्लीकेलिएरवानाहोगएहैं।उनकेपिताशौकतअलीउन्हेंलेनेदिल्लीगएहैं।दूसरीओरतरुणगौतमटर्नाेपिलशहरकोछोड़हंगरीपहुंचगएहैं।वहभीजल्दभारतकेलिएउड़ानभरसकतेहैं।आलोकचौधरीस्लोवाकियासेजल्दभारतपहुंचसकतेहैं।खारकीवकेबंकरमेंफंसेदक्षनेपिताकोबतायाहैकिवहट्रेनकेजरिएयूक्रेनकेकिसीभीबार्डरकेलिएनिकलरहेहैं।वहांसेभारतआनेकाप्रयासकरेंगे।डा.सुनीलउपाध्यायकेबेटेकुलदीपउपाध्यायभीगुरुवारकोयूक्रेनसेभारतपहुंचसकतेहैं।