भारत दक्षिण एशिया के चुनाव प्रबंधन निकाय का नया अध्यक्ष

नयीदिल्ली,24जनवरी(भाषा)मुख्यनिर्वाचनआयुक्तसुनीलअरोड़ानेशुक्रवारकोदक्षिणएशियाईदेशोंकेनिर्वाचनप्रबंधननिकायों(एफईएमबीओएसए)केफोरमकेअध्यक्षकेरूपमें2020केलियेकार्यभारसंभाललिया।आयोगकेअधिकारियोंनेबतायाकिबैठकमेंपाकिस्ताननेशिरकतनहींकी।जम्मूकश्मीरसेअनुच्छेद370हटायेजानेकेबादद्विपक्षीयतनावकेकारणपाकिस्तानकोआमंत्रितनहींकियागयाथा।फोरमकीयहांआयोजितवार्षिकबैठकमेंअरोड़ानेनिवर्तमानअध्यक्षबांग्लादेशकेनिर्वाचनअधिकारीकेएमनुरुलहुडासेकार्यभारसंभाला।अरोड़ानेकहाकिलोकतंत्रमेंसत्तासिर्फनियमितरूपसेवैधचुनावोंद्वाराजीतीजातीहैजोसार्वभौम,समान,प्रत्यक्षऔरस्वतंत्ररूपसेव्यक्तमताधिकारपरआधारितहोतीहै।उन्होंनेकहाकिमजबूतसहभागिताकारीवसमावेशीलोकतंत्रसुशासनऔरनागरिकोंकासशक्तिकरणसुनिश्चितकरनेमेंबेहतरतरीकेसेसक्षमहोतेहैं।बैठकमेंसदस्यदेशोंकेप्रतिनिधियोंकोसंबोधितकरतेहुयेअरोड़ानेकहाकिलोकतंत्रमेंसत्ताकोनियमितचुनावोंकेजरियेहीविधिमान्यबनायाजाताहै।इसकेलियेनिर्वाचनप्रक्रियाकोनिरंतरदुरुस्तकरनेकीजरूरतपरबलदेतेहुयेउन्होंनेकहाकिभारतइसदिशामेंसभीसदस्यदेशोंकेसाथआपसीसहयोगबढ़ानेकाहिमायतीहै।फोरममेंभारतीयनिर्वाचनआयोगकेअलावाअफगानिस्तान,भूटान,बांग्लादेश,मालदीव,नेपाल,पाकिस्तानऔरश्रीलंकाकेनिर्वाचननिकायभीसदस्यहैं।फोरमकीपिछलीबैठकसितंबर2018मेंबांग्लादेशकीराजधानीढाकामेंआयोजितकीगयीथी।इसदौराननिर्वाचनप्रणालीकोमजबूतबनानेकेलिये‘संस्थागतक्षमताविकास’परअंतरराष्ट्रीयसम्मेलनभीआयोजितकियागया।उल्लेखनीयहैकिसार्कदेशोंकेनिर्वाचननिकायोंकीमई2012मेंआयोजितबैठककेदौरानइसफोरमकागठनकियागयाथा।इसदौरानभारतीयनिर्वाचनआयोगनेअफगानिस्तानकेचुनावआयोगकेसाथचुनावप्रबंधनपरद्विपक्षीयसमझौतेपरभीहस्ताक्षरकिये।बैठकमेंसदस्यदेशोंनेलोकतांत्रिकप्रक्रियाकोमजबूतबनानेकेलियेनिर्वाचनप्रणालीकोबेहतरबनानेकेमकसदसेआपसीसहयोगकीजरूरतपरबलदिया।एकप्रवक्तानेकहाकिचुनावआयोगनेचुनावप्रबंधनमेंसहयोगकेलियेट्यूनीशियाकेस्वतंत्रचुनावप्राधिकारकेसाथएकसहमतिपत्रपरहस्ताक्षरकिया।बैठकमेंशामिलसातएफईएमबीओएसएसदस्योंद्वाराएकसुरमें‘नईदिल्लीप्रस्ताव’कोभीस्वीकारकियागया।