बढ़ रहा घूम रहे सांड़ों का आतंक, कैसे हो रोकथाम

लखीमपुर:शहरसमेतपूरेजिलेमेंघूमरहेसांडोंकाआतंकबढ़रहाहै।कहींसड़कोंपरतोकहींखेतोंमेंघूमतेयेसांडलोगोंकेलिएबड़ाखतराबनतेजारहेहैं।येबड़ीसमस्यादिखतोसबकोरहीहै,परइसकीरोकथामकैसेहो,येजवाबकिसीकेपासफिलहालनहींहै।

लखनऊमेंशुक्रवारकोसांडनेदोलोगोंकोपटककरमारडालाथा।लखीमपुरशहरसमेतपूरेजिलेमेंभीघूमरहेसांडोंकाखतराकमनहींहै।शहरमेंहीसाढ़ेपांचसौकेकरीबबेसहारापशुघूमतेरहतेहैं।शहरकेओवरब्रिज,रोडवेजबसस्टैंडकेआसपास,सौजन्याचौककेआसपासखीरीरोडपरऔररेलवेस्टेशनरोडपरसांडघूमतेरहतेहैं।सब्जीमंडीसमेतगलीमुहल्लोंतकमेंइनकाआतंकहै।

यहांभीहोचुकीहैंकईमौतें

थानाहैदराबादक्षेत्रकेग्रामशेरपुरमेंबीती26अप्रैलकेखेतोंकीओरजारहे65वर्षीयदुलारेकोसांडनेपटककरमारडालाथा।बरबरक्षेत्रकेगांवसाहूपुरमेंबीतेसाल30अगस्तकोरफीकऔर12जुलाईकोसागरकीसांडकेहमलेमेंमौतहोगईथी।मितौलीवमूड़ासवारानक्षेत्रमेंभीसांडकेहमलेकीघटनाएंहुईहैं।ममरीक्षेत्रकेग्रामकैथोलामेंधिरावांवगोविदापुरमेंएवंफरधानक्षेत्रकेमन्योरागांवमेंभीसांडकईलोगोंकोघायलकरचुकेहैं।

'बेसहाराघूमरहेसांड़आमजनकेलिएमुसीबतबनेहुएहै।इन्हेंपकड़नेकेलिएपशुपालनविभागऔरनगरपालिकाकेपासप्रशिक्षितकर्मचारीनहींहैं।हाइड्रोलिकवालेवाहननहींहै,जिससेउन्हेंपकड़ाजासके।'

डॉ.टीकेतिवारी,मुख्यपशुचिकित्साधिकारी।