बड़ी जिम्मेदारी से बचने के लिए बना रहे बहाने

रायबरेली:त्रिस्तरीयपंचायतचुनावसेड्यूटीकटवानेकेलिएकर्मचारीतमामतरहसेबहानेबनारहेहैं।इसमेंसबसेज्यादातर्कलोगबीमारियोंकादेरहेहैं।इनमेंभीसिर्फ10फीसदअर्जीहीसहीमिलरहींहैं,शेषखारिजहोरहीहैं।

जिलेकेअलग-अलगसरकारीविभागोंमेंतैनातकरीब20हजारअधिकारियोंऔरकर्मचारियोंकीड्यूटीपंचायतचुनावमेंलगाईगईहै।इनसेतमामऐसेकर्मचारियोंकीड्यूटीभीलगगईहै,जोबीमारहैंयाफिरचुनावड्यूटीमेंजानेकेकाबिलनहीं।इसकेअलावाबहुतसेलोगबीमारीकाबहानाबताकरभीचुनावड्यूटीसेछुट्टीपानाचाहरहेहैं।ऐसीतमामअर्जियांरोजअफसरोंकेपासपहुंचरहींहैं।प्रशिक्षणस्थलफीरोजगांधीकॉलेजमेंएकमेडिकलटीमबैठाईगईहै,जिसमेंजिलाअस्पतालकेडॉ.अल्ताफहुसैनऔरडॉ.सलीमसमेतअन्यलोगतैनातकिएगएहैं।बतातेहैंकितीनदिनकेअंदर150सेअधिकआवेदनआएं।टीमनेजांचकीतो95फीसदआवेदननिरस्तहोगए।इनकार्मिकोंकोप्रशिक्षण्लेनेकेलिएकहागयाहै।वहींअन्यजायजमिले10फीसदआवेदनमेंछुट्टीनिरस्तकरनेकीसिफारिशेंकीगईंहैं।

इनसेटचलनेकेलिएचाहिएसहारा,कैसेकरेंगेड्यूटी

शहरकेकिलाफाटकनिवासीबुजुर्गरज्जनलालकोउनकीपत्नीज्ञानवतीऔरबेटाश्यामकुमारकिसीतरहसहारादेकरप्रशिक्षणकेंद्रपहुंचे।हालयहथाकिचंदकदमचलनेसेहीउनकीसांसफूलनेलगीथी।ज्ञानवतीनेबतायाकिउनकेपतिकाफीसमयसेबीमारहैं।अपनेदमपरचलभीनहींसकते।फिरभीड्यूटीलगादीगई।

स्वास्थ्यटीमकेनिर्णयसेदिखीनाराजगी

कृष्णानगरनिवासीसहायकअध्यापकसत्येंद्रकुमारकाकहनाथाकिचारदिनपहलेउनकेहाथकाऑपरेशनहुआहै।यहांअपनेरोजमर्राकेकामकेलिएभीदूसरोंकासहारालेनापड़रहाहै।फिरभीस्वास्थ्यटीमनेउनकाआवेदननिरस्तकरदिया।