बच्चों को नैतिक शिक्षा दें अभिभावक : एसडीओ

जिन्हेंअपनेमाता-पिताकाख्यालरहताहै,वेहीजीवनमेंबहुतआगेजातेहैं।उन्हेंकोईहरानहींसकताहै।अभिभावकोंकोचाहिएकिबच्चोंकोनैतिकशिक्षाएवंसंस्कारकीशिक्षाघरमेंहीदेंअगरबच्चोंमेंबचपनसेहीअच्छासंस्कारडालेंगेतोबच्चाबड़ाहोकरएकअच्छानागरिकबनेगा।उक्तबातेंएसडीओकुमारीअनुपमसिंहनेगयारोडस्थितएसेंबलीऑफगॉडमिशनस्कूलकाआयोजितवाíषकोत्सवसांस्कृतिककार्यक्रममेंकही।इससेपहलेउद्घाटनएसडीओकुमारीअनुपमसिंहएवंजिलापार्षदसहजदयूपंचायतीराजप्रकोष्ठकेजिलाध्यक्षरामकृष्णकुमारउर्फनंहकुपांडेयनेदीपप्रज्वलितकरकिया।आगेअपनेसंबोधनमेंएसडीओनेशिक्षकोंसेउन्होंनेकहाकिबच्चेआपकोफॉलोकरतेहैं।इसलिएआदर्शप्रस्तुतकरनाकरें।अपनेव्यवहारकोइसप्रकाररखनाहैजैसीअपेक्षाहमअपनेबच्चोंसेकरतेहैं।ताकिबच्चेउसकोफॉलोकरएकबेहतरनागरिकबनसकें।बच्चेप्रणलेंकिप्रकृतिकोसंतुलितबनानेकेलिएजलवऊर्जासंरक्षणकरेंगे।जलकोबर्बादनहींहोनेदेंगे।जलसंचयकरनाहै।अगरकहींअनावश्यकबिजलीबल्बजलरहीहोतोस्विचऑफकरदेंगे।जिलापार्षदनेभीसंस्कारयुक्तशिक्षापरबलदिया।संस्थाकेछात्र-छात्राओंद्वारासांस्कृतिककार्यक्रमोंकीप्रस्तुतिकीगयी।संस्थाकेचेयरमैनअशोककुमारएवंनिदेशकरंजनाब्यूटीशर्मानेअतिथियोंकास्वागतकिया।कोऑíडनेटरप्रवीणपंकज,प्राचार्यमंगलेश्वरशर्माआदिनेभीकार्यक्रमकोसफलबनानेमेंभूमिकानिभायी।कार्यक्रमकासंचालनशिक्षकअंजनीकुमारअत्रेयनेकिया।