बांदा में झोपड़ी में साधु को जिंदा फूंकने का प्रयास, नाजुक

संवादसहयोगी,पैलानी(बांदा):चिल्लाथानाक्षेत्रकेदिघवटगांवकेबसस्टैंडकेपासशुक्रवारदेररातझोपड़ीमेंआगलगाकरसाधुकोजिंदाफूंकनेकीकोशिशकीगई।उसनेपीछेसेनिकलकरजानबचाई।ग्रामीणोंनेनाजुकहालतमेंजिलाअस्पतालमेंभर्तीकरायाहै।आरोपहैकिरंजिशमेंजलाकरमारनेकाप्रयासकियागया।

दिघवटगांवनिवासीसाधुवेशधारी55वर्षीयत्रिवेणीप्रसादरोडकिनारेझोपड़ीडालकररहतेहैं।वहींपान-गुटखाबेचकरभरण-पोषणकरतेहैं।उन्होंनेबतायाकिरातमेंझोपड़ीमेंसोतेसमयअचानकचारोंतरफसेआगकीलपटेंउठनेलगीं।तपिशऔरधुआंसेनींदटूटीतोझोपड़ीकेपीछेसेकिसीतरहनिकलकरपासहीस्थितमंदिरपहुंचे।शोरमचातेहुएकुछदूरपररहनेवालेरामसिंहविश्वकर्माकोबताया।इससेकुछदेरमेंमौकेपरग्रामीणोंकीभीड़जुटगई।

कुछदिनपहलेदुकानदारसेपुलिसनेकरायाथासमझौता

त्रिवेणीप्रसादनेबतायाकिकुछदिनपहलेपासकेहीएकपानदुकानदारसेविवादहुआथा।थानेमेंशिकायतकरनेपरआएदारोगानेसमझौताकरायाथा।उन्होंनेकिसीपरशकतोनहींजताया,लेकिनखुदकोजिंदाफूंकनेकेप्रयासकीसाजिशरचनेकीबातजरूरकही।

ग्रामीणहीकररहेतीमारदारी

परिवारमेंकिसीकेनहींहोनेसेजिलाअस्पतालमेंग्रामीणहीसाधुकीतीमारदारीकररहेहैं।एकयुवकनेबतायाकिवहकाफीझुलसेहुएहैं।इतनीबड़ीघटनाहोनेकेबादभीपुलिसनेअभीतककोईकदमनहींउठायाहै।जिलाअस्पतालकेडॉविनीतसचाननेबतायाकरीब40फीसदझुलसेहैं।हालतखतरेसेबाहरहै।

थानापुलिसकोजांचकेआदेशदिएहैं।प्रत्येकबिदुपरजांचहोरहीहै।अभीतकतहरीरनहींमिलीहै।आगलगनेकीवजहपताकराईजारहीहै।

महेंद्रप्रतापसिंह,एएसपी