बाजार में एक मात्र शौचालय बिन पानी के बना सफेद हाथी

संवादसहयोगी,तावडू:करीबदोकिलोमीटरकेक्षेत्रमेंफैलेनगरकेमुख्यबाजारकेदुकानदारवखरीदारीकेलिएआनेवालीग्रामीणयहांबनेएकमात्रशौचालयकीदुर्दशाकेचलतेआहतहैं।करीबसवामहीनेसेशौचालयमेंपानीनहींहोनेकेचलतेलोगोंकोभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।

स्थानीयदुकानदारअशोककुमारगोयल,राजेशभारद्वाज,योगेंद्रउर्फबाबी,कुलदीपसहरावत,रामबाबूगुप्ता,बबलीसोनी,वेदप्रकाशमित्तलआदिनेबतायाकिनगरकेबाजारमें84गांवोंकेलोगआएदिनखरीदारीकरनेआतेहैं।इसकेअलावाकरीब300सेअधिकदुकानदारवउनपरकामकरनेवालेलोगशौचालयमेंगंदगीवपानीनहींहोनेकेचलतेभारीपरेशानहैं।सबसेअधिकपरेशानीखरीदारीकेलिएआनेवालीमहिलाओंकोहोरहीहै,लेकिनप्रशासनहैकिइसकोलेकरकुंभकरणकीनींदसोयाहुआहै।एकमहीनेसेअधिकसमयहोगयाशौचालयमेंपानीभरनेकोलेकरलगीहुईमोटरजलीपड़ीहै।जिसकेचलतेनाइसकीसहीसेसफाईहोपारहीहैऔरनाहीपानीकीसुविधाहै।वहींस्थानीयपार्षदज्ञानीरामवर्मानेबतायाकिजबतकवहइसकीदेखभालकरतेथे,तबतकसारीव्यवस्थाठीक-ठाकथी।लेकिन,लोगोंकोउनकीसमाजसेवारासनहींआईजिसकेचलतेउन्होंनेभीइसकीतरफध्यानदेनाछोड़दियाहै।-शौचालयमेंपानीव्यवस्थानहींहोनेकामामलाअभीउनकेसंज्ञानमेंआयाहै,जिसकीसफाईकेसाथपानीकीव्यवस्थाजल्दकरादीजाएगी।लोगोंकीअसुविधाकेलिएखेदहै।

-मनीषसहरावत,पालिकाअभियंता,तावडू