अव्यवस्थाओं से बदहाल कैसरगंज का पशु अस्पताल

बहराइच):पशुओंकाइलाजसरकारकीप्राथमिकतामेंशामिलहै।इसकेबावजूदकैसरगंजपशुचिकित्सालयअव्यवस्थाओंसेबदहालहै।जर्जरभवनव्यवस्थाकोआइनादिखारहाहै।पशुओंकेइलाजकेलिएटीनशेडकेइंतजामनहींहै।चिकित्सकोंकेरहनेकेआवासबदहालहैं।बाउंड्रीवालभीनहींहै।कार्यालयवआवासदोनोंहीजर्जरहैं।चिकित्सालयकेआसपासलगेझाड़-झंखाड़वभवनकीदरकतीदीवारेंबदहालीकीकहानीकहरहीहैं।दवाओंकेसाथ-साथस्टाफकीकमीसेपशुपालकोंकोदिक्कतेंउठानीपड़रहीहैं।बारिशकेदिनोंमेंपूरेचिकित्सालयमेंघुटनोंतकपानीभरजाताहै।आना-जानामुश्किलरहताहै।पशुओंकेबाड़ेवगर्भाधानकक्षभीटूटनेकेकगारपरपहुंचगयाहै।

तहसीलमुख्यालयपरस्थितपशुचिकित्सालयकाकोईपुरसाहालनहींहै।पशुपालकोंकोछोटी-छोटीसमस्याओंकोलेकरइधर-उधरभटकनापड़रहाहै।यहांपरतैनातडॉ.आरकेसक्सेनाकेपासदोचिकित्सालयोंकाप्रभारहै।ऐसेमेंपशुओंकाइलाजहोपानासंभवनहींदिखरहाहै।पशुचिकित्साधिकारीकाकहनाहैकिचिकित्सालयकेजर्जरभवनकोलेकरउच्चाधिकारियोंकोकईबारपत्रलिखाजाचुकाहै।चिकित्सालयभवनजर्जरहोनेकेकारणदिक्कतेंतोहोतीहैं,लेकिनकाममेंकोईफर्कनहींपड़ताहै।