अष्टघटी तालाब में पांच फीट गहरा पानी, खतरा

लखीसराय।लखीसरायशहरकेपौराणिकअष्टघटीतालाबपरमहापर्वछठकेमौकेपरभारीभीड़रहतीहै।एकसाथआधादर्जनवार्डोंकीआबादीइसतालाबपरभगवानसूर्यदेवकोअ‌र्घ्यअर्पितकरनेपहुंचतीहै।नगरपरिषदनेतालाबकेचारोंओरसफाईकराकरघाटकोचकाचककरदियाहै।लेकिनतालाबमेंपांचसेसातफीटगहरापानीरहनेकेकारणयहतालाबकाफीअतिसंवेदनशीलएवंखतरनाकहै।यहांथोड़ीसीचूकसेदुर्घटनाघटसकतीहै।प्रशासनऔरस्थानीयलोगोंकोविशेषसतर्कताबरतनेकीजरूरतहै।छठघाटोंपरनगरपरिषदद्वाराकीजारहीव्यवस्थाकीजागरणटीमनेजबपड़तालकीतोपायाकिअष्टघटीतालाबस्थितघाटसेकरीबदोसेतीनफीटकीदूरीपरहीपांचफीटसेअधिकगहरापानीहै।इसकोलेकरतालाबकेचारोंओररस्सीसेरेडमार्किंगकीगईहैताकिकोईभीव्यक्तिघेरासेबाहरनहींजाए।घाटकीस्थितियहहैकिव्रतीएवंश्रद्धालुजबतालाबमेंउतरेंगेतोसीधेकमरसेऊपरपानीमेंजाएंगे।तालाबमेंप्रवेशकरनेकेलिएविशेषसावधानीबरतनेकीजरूरतहै।खासकरमहिलाओंएवंबच्चोंपरविशेषध्यानदेनेकीजरूरतहै।इसतालाबकेचारोंओरकाफीजगहहैलेकिनपानीकाफीगहराहै।प्रशासनद्वारागहरेपानीकीघेराबंदीकरनेकेबादभीस्थानीयमोहल्लेकेबच्चेघेरासेबाहरजाकरस्नानकररहेहैं।लेकिनइसपरकिसीकाध्याननहींहै।कईबच्चेटायरकेसहारेतालाबकेगहरेपानीमेंसैरकरनेसेबाजनहींआरहेहैं।जिलाप्रशासननेइसतालाबकोखतरनाकघोषितकियाहै।